कोरोना पॉजिटिव के फोन पर अब मैसेज, इसमें होम आइसोलेशन की जानकारी, कई टीमों के नंबर जारी , September 09, 2020 at 06:18AM

नई दिल्ली में कामयाबी के बाद होम आइसोलेशन यानी घर में इलाज की सुविधा को प्रदेश सरकार ने न सिर्फ अपनाया है, बल्कि इसे और सुविधाजनक बनाने के लिए प्रशासन ने कोशिश शुरू कर दी है। पहली कोशिश की तहत प्रशासन ने मंगलवार को एक वेबसाइट तैयार कर ली, जो पूरी तरह होम आइसोलेशन पर भी आधारित है। इसमें होम आइसोलेशन की अनुमति, जांच, दवा पहुंचाने के साथ किसी भी तरह की दिक्कत पर इमरजेंसी सेवा के नंबर दिए हैं। सभी मुद्दों पर चौबीसों घंटे की जवाबदेही के साथ बड़ी टीम तैनात कर दी गई है। इसी के तहत, अब राजधानी में कोई भी व्यक्ति पाजिटिव पाया जाएगा तो उसके मोबाइल पर कुछ देर में एक एसएमएस आएगा। इसी में वेबसाइट https://ift.tt/3bFrW6I का लिंक दिया है, जिस पर क्लिक करते ही पूरी प्रक्रिया आपके सामने होगी।
इस वेबसाइट को ओपन करने के बाद पंजीयन करते समय संबंधित व्यक्ति को अपना नाम, पता, परिवार के बाकी सदस्य, अन्य बीमारियां किसी को हों तो, मकान में कमरे, इलाज कराने वाले डॉक्टर के बारे में जानकारी ली जाएगी। पूरी जानकारी भरने के कुछ देर बाद ही संबंधित लोगों को मैसेज आएगा कि जानकारियों के आधार पर होम आइसोलेशन दिया जा रहा है या नहीं। किसी जरूरत पर कहां काॅल कर सकते हैं, वह नंबर भी दिए जाएंगे। सबसे बड़ी राहत यह है कि अब मरीज को होम आइसोलेशन की अनुमति के लिए फॉर्म लेकर डॉक्टर समेत कंट्रोल रूम में बैठे अधिकारियों व दफ्तरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। अनुमति मिलते ही नगर निगम, हेल्थ व जिला प्रशासन की टीम, जिन्हें अलग-अलग काम का जिम्मा बांटा गया है। वे संबंधित के मकान के वेरिफिकेशन के साथ-साथ दवा देने तक का जिम्मा संभालेंगे और खुद ही संपर्क करेंगे। यही नहीं, होम आइसोलेशन के लिए कलेक्टर के भारतीदासन ने मंगलवार को इससे जुड़े हर काम के लिए अलग-अलग टीम बना दी है। इन राहत टीमों का लाभ मरीज को कैसे मिले, इसका सिस्टम भी तय कर दिया गया। होम आइसोलेशन की व्यवस्था व संचालन के लिए एडीएम विनित नंदनवार को नोडल अफसर बनाया गया है। इसके अलावा अलग-अलग काम व जोन के हिसाब से टीम बनाई गई है।

वेबसाइट में ऐसे करें पंजीयन, सबमिट करने से कुछ देर में ही वेरिफिकेशन
होम आइसोलेशन की जानकारी, डिटेल व मरीजों के पंजीकरण को लेकर जिला प्रशासन द्वारा बनवाई गई वेबसाइट की मॉनिटरिंग करने वाले रोहित थॉमस ने बताया कि मरीज को मोबाइल पर मैसेज आने पर https://ift.tt/3bFrW6I में क्लिक करना है। इसके बाद की पूरी प्रक्रिया को इस तरह समझें।

  • पेज खोलते ही स्क्रीन पर आएगा : लॉगिन या होम आइसोलेशन पंजीकरण। इसे क्लिक करें
  • होम आइसोलेशन पंजीकरण पर क्लिक करना है, इसके बाद पूरी डिटेल ओपन हो जाएगी
  • मरीज का नाम, माता-पिता का नाम और मोबाइल नंबर भरते ही 6 अंकों का ओटीपी आएगा
  • इसी पेज पर मरीज को अपने बारे में पूरी जानकारी देनी होगी, अपना पासवर्ड भी बनाना होगा
  • अपनी आयु, पुरुष या महिला, पूरा पता, होम आइसोलेशन वाले परिवार की सदस्य संख्या देंगे
  • जोन नंबर, किस डॉक्टर व अस्पताल से अंडरटेकिंग, कोविड पॉजीटिव होने की तारीख लिखें { किसी प्रकार का लक्षण हों या कैंसर, किडनी, डायबिटीज या गंभीर बीमारी, इसका ब्योरा भरें
  • घर में मरीज के लिए अलग कमरा या बाथरूम की जानकारी भरकर सबमिट बटन क्लिक करें
  • इसके बाद प्रशासन की तरफ से वेरिफिकेशन आएगा कि अनुमति दी जा सकती है अथवा नहीं
  • अनुमति दे दी गई तो प्रशासन की ओर नियुक्त टीम दवा देने घर आएगी, तरीका भी बताएगी

24 घंटे का इमरजेंसी नंबर
होम आइसोलेशन वाले मरीज सेहत संबंधी परेशानी होने पर वाॅइस या वीडियो काॅल से डाक्टरों से सलाह ले सकते हैं। इसके लिए तीन पाली में टीमें तैनात हैं और तीन नंबरों 7566100283, 7566100284 व 7566100285 पर कभी भी संपर्क कर सकते हैं। अलग-अलग जोन में डॉक्टर्स की टीम भी लगाई गई है। होम आइसोलेशन के संचालन व पूरी प्रक्रिया के लिए सहायक नो़डल अधिकारी नायब तहसीलदार नोविता सिन्हा हैं। जिम्मे जोन 01 से 05 तक है। नायब तहसीलदार अंजलि शर्मा जोन 06 से 10 की प्रभारी हैं।

घर में दिक्कत, तो ये इंतजाम : होम आइसोलेशन वाले मरीज की तबियत अचानक बिगड़े और इमरजेंसी में अस्पताल में भर्ती करवाना हो तो इसकी जिम्मेदारी हरिकृष्ण जोशी (91656-01666) और सी जोसेफ (98261-23957) को दी गई है। ऐसे मरीजों के लिए यही वाहन की व्यवस्था करेंगे। होम आइसोलेशन में आवश्यकता पड़ने पर शासकीय कोविड सेंटर या अस्पताल में भर्ती कराने की व्यवस्था के लिए सीएमएचओ दफ्तर के स्वतंत्र रहंगडाले (7999440263) को जिम्मा दिया गया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Message on Corona positive's phone, information about home isolation, number of teams released


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/329Exfd

0 komentar