मुंगेली के सरकारी अस्पताल में संक्रमित युवक ने फंदा लगाकर जान दी; बलौदाबाजार में सुबह उसकी मां ने दम तोड़ दिया , September 10, 2020 at 04:09PM

कोरोना संक्रमण के बीच एक परिवार को दोहरा सदमा लगा है। एक ओर जहां मुंगेली में युवक ने देर रात सरकारी अस्पताल में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली, वहीं बलौदाबाजार में गुरुवार को उसकी मां ने दम तोड़ दिया। मौत के बाद युवक की जांच कराई गई तो वह कोरोना पॉजिटिव निकला। मामला लोरमी क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, बलौदाबाजार निवासी अनिल जायसवाल (47) लोरमी में किराये से कमरा लेकर रहता था और धान-भूसा सप्लाई करने का काम करता है। तीन दिन पहले तबीयत खराब होने पर वह मातृ-शिशु अस्पताल में भर्ती हुआ। उसे आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था। देर रात गमछे से फंदा लगाकर अनिल ने खुदकुशी कर ली।

डायबिटीज और बुखार की शिकायत पर हुआ था भर्ती
लोरमी के बीएमओ डॉ. जीएस दाऊ ने बताया कि अनिल को डायबिटीज और बुखार की दिक्कत के बाद 7 सितंबर को अस्पताल में भर्ती किया गया था। उसका गुरुवार को ही कोरोना टेस्ट होना था, लेकिन इससे पहले रात को सुसाइड कर लिया। पोस्टमार्टम के बाद जब टेस्ट रिपोर्ट आई तो पता चला कि वह संक्रमित था।

वृद्धावस्था और बीमारी के चलते मां ने भी तोड़ा दम
दूसरी ओर बलौदाबाजार में अनिल की मां ने गुरुवार को दम तोड़ दिया। वह काफी वृद्ध थीं और बीमार रहती थीं। परिजन उनका अंतिम संस्कार करने के बाद अनिल का शव लेने के लिए लोरमी जाएंगे। परिवार में एक ही दिन में दो-दो मौतों के चलते सभी सदस्य सदमे में हैं। फिलहाल पुलिस अनिल की खुदकुशी करने के कारणों का पता कर रही है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
कोरोना संक्रमण के बीच एक परिवार को दोहरा सदमा लगा है। एक ओर जहां मुंगेली में युवक ने देर रात सरकारी अस्पताल में फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली, वहीं बलौदाबाजार में गुरुवार को उसकी मां ने दम तोड़ दिया।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2R9rLao

0 komentar