सैंपल देने के बाद आइसोलेट रहने के सख्त निर्देश, होम आइसोलेशन के लिए ऐप से भी आवेदन कर सकेंगे; चौराहों पर काढ़ा बांटेगी सरकार , September 12, 2020 at 11:31AM

छत्तीसगढ़ में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए सरकार अब सख्ती के मूड में आ गई है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्पष्ट कर दिया कि बिना किसी दबाव और सिफारिश से प्रोटोकॉल के तहत मरीजों की कोविड अस्पताल में भर्ती की जाए। इसका निर्णय डाक्टर करेंगे। वहीं सैंपल देने के बाद आइसोलेट रहने के सख्त निर्देश दिए गए हैं।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने रायपुर स्थित डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर की कार्यप्रणाली, व्यवस्था, प्रबंधन समेत अन्य बातों का निरीक्षण किया। इस दौरान स्वास्थ्य अधिकारियों को समुचित चिकित्सकीय सुविधाओं को सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

वेबपोर्टल और ऐप से नजदीकी कोविड सेंटर की मिलेगी जानकारी
जल्द ही लोगों को वेबसाइट और ऐप के माध्यम से कोविड केयर सेंटरों की जानकारी उपलब्ध हो सकेगी। इसके लिए निर्देश जारी कर दिए गए हैं। वहीं ऐप के जरिए मरीज लोकेशन और क्षेत्र से सेंटर की दूरी भी जान सकेंगे। वन विभाग ने 'सर्वज्वरहर चूर्ण' तैयार किया है। इसका काढ़ा बनाकर सार्वजनिक स्थानों और चौराहों पर वितरण होगा।

होम आइसोलेशन इंफॉरमेशन सेंटर बनाया गया
होम आइसोलेशन के लिए अब घर से ही आवेदन किया जा सकेगा। जिला पंचायत परिसर में होम आइसोलेशन सेंटर बनाया गया है। सेंटर से मरीजों की समस्याओं को दूर किया जाएगा। वहीं, टेलिफोनिक और वीडियो कॉल से डॉक्टर परामर्श देंगे। होम आइसोलेशन की सुविधा के लिए मोबाइल नंबर 7566100283, 7566100284 व 7566100285 पर संपर्क कर सकते हैं।

होम आइसोलेशन में मरीजों की निगरानी कर रहे डॉक्टरों को देनी होगी जानकारी
स्वास्थ्य विभाग ने होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की निगरानी कर रहे निजी अस्पताल, नर्सिंग होम और डॉक्टरों को जानकारी देने के लिए कहा है। मरीज से संबंधित सभी जानकारी सीएमएचओ को उपलब्ध कराएंगे। अफसरों का कहना है कि पता चला है कि मरीजों के तापमान, ऑक्सीजन लेवल, मरीज के लक्षणों व आइसोलेशन की अवधि समाप्त होने की जानकारी साझा नहीं कर रहे हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
यह फोटो रायपुर के लालपुर स्थित कोविड सेंटर की है। कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन ने पीपीई किट पहनकर सेंटर का निरीक्षण किया और मरीजों से बात की।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3kdJDgC

0 komentar