बीजापुर में ग्रामीण उतरे सड़क पर, बेगुनाहों की रिहाई, और आदिवासी युवकों को रोजगार देने की रखी मांग , September 12, 2020 at 12:45PM

जिले के ग्रामीण शुक्रवार को सड़कों पर नजर आए। एक के पीछे एक कतारबद्ध होकर लोग चलते हुए नारे बाजी कर रहे थे। इन आदिवासियों की मांग है कि रोजगार, शिक्षा और स्वास्थ्य से जुड़ी सुविधाएं इनके इलाके में बढ़ें। ऐसी ही 20 मांगे लेकर बीजापुर जिले के भैरमगढ़ ब्लॉक में कई गांव के ग्रामीण काफी संख्या में भैरमगढ़ पातरपारा में जमा हुए। लोगों ने कहा कि जिले के कामों में स्थानीय लोगों को प्राथमिकता मिले, बेरोजगारी भत्ता मिले, सरकारी भर्तियों में स्थानीय लोगों को मौका मिले।


अफसरों ने इस तरह जमा ना होने की अपील
ग्रामीण के द्वारा राज्यपाल के नाम एसडीएम ए.आर. राणा को ज्ञापन सौंपा गया। भैरमगढ़ के तहसीलदार जुगल किशोर पटेल भी ग्रामीणों को समझाते दिखे। एसडीएम ने कहा कि उनकी मांगों को सरकार के समक्ष रखा जाएगा और जल्द इसके निराकरण का प्रयास किया जाएगा। लोगों से कहा गया कि इस तरह से सामूहिक रूप से इकट्ठा होना खतरनाक हो सकता है। इसलिए अधिकारियों ने अपील करते हुए कहा भविष्य में इस तरह के प्रदर्शन न करें और अपनी मांगें प्रतिनिधी के जरिए भेज दें।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फोटो बीजापुर की है। तस्वीर के शुरुआती हिस्से से आखिर तक जनता का समूह है। कोविड के खतरे के बीच इस तरह से लोगों का जमा होना खतरनाक है, मगर ये प्रशासन और सरकर के फेल सिस्टम की वजह से लोगों के गुस्से और मजबूरी को भी दिखाता है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/32jjV4k

0 komentar