छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बोले- किसानों का भविष्य अच्छा नहीं है, और ये देश के पक्ष में नहीं; जल्द देशभर के किसान सड़कों पर करेंगे प्रदर्शन , September 19, 2020 at 04:57PM

लोकसभा में एक दिन पहले ही पारित हुए कृषि सुधार बिल का विरोध तेज हो गया है। एक ओर जहां सरकार के सहयोगी ही उसके खिलाफ खड़े हो रहे हैं, वहीं विपक्ष ने भी विरोध का बिगुल फूंक दिया है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस बिल को किसानों के लिए भयानक बताया है। वह न्यूज एजेंसी से बिल को लेकर शुक्रवार को बात कर रहे थे।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि बिल पारित होने के बाद से विभिन्न राज्यों में किसानों के प्रदर्शन का कारण बन गया है। जल्द ही देश भर के किसान सड़कों पर विरोध करेंगे। अभी तक इसकी शुरुआत पंजाब और हरियाणा से हुई है। उन्होंने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार का नया बिल निजी बाजारों को आगे आने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है।

ये बिल बहुराष्ट्रीय कंपनियों को नियंत्रण प्रदान करेगा
मुख्यमंत्री बघेल ने कहा, केंद्र ने अनाज भंडारण की सीमा को हटा दिया है। ये बिल बहुराष्ट्रीय कंपनियों को कृषि क्षेत्र में काम करने की अनुमति देगा, उन्हें नियंत्रण प्रदान करेगा। कहा, कृषि सुधार बिल किसानों के लिए भयानक है। वे (केंद्र) किसानों की भलाई के लिए पूर्व नेताओं के वर्षों पहले उठाए गए सभी कदमों को उलट रहे हैं। किसानों का भविष्य अच्छा नहीं है और ये देश के पक्ष में नहीं है।

केंद्र ने कहा- लाइसेंस राज खत्म होगा, किसान उपज बेचने को स्वतंत्र होंगे
लोकसभा ने केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने गुरुवार को कृषि मार्केटिंग में सुधार से संबंधित दो विधेयक पारित किए। इसमें कहा गया कि ये कानून लाइसेंस राज को समाप्त करेगा और किसान अपनी पसंद से कृषि उपज बेचने के लिए स्वतंत्र होंगे। ये बिल अब राज्यसभा में पेश किया जाएगा। इससे पहले बिल के विरोध में हरसिमरत कौर बादल मंत्रीमंडल से इस्तीफा दे चुकी हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
लोकसभा में एक दिन पहले ही पारित हुए कृषि सुधार बिल का विरोध तेज हो गया है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस बिल को किसानों के लिए भयानक बताया है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3mCbx8k

0 komentar