शिक्षामंत्री टेकाम ने कहा - प्रदेश में अभी स्कूल खोलने के हालात नहीं, बच्चों को दांव पर नहीं लगा सकते , September 19, 2020 at 05:29AM

केंद्रीय गाइडलाइंस के अनुसार कई राज्यों में 9 वीं से 12वीं तक के बच्चों के लिए, चरणबद्ध तरीके से स्कूल खोलने की तैयारियों के बीच छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह ने शुक्रवार को फिर स्पष्ट किया कि हम केंद्र के गाइड लाइन को आधार मानकर बच्चों को दांव पर नहीं लगाएंगे। अभी स्कूल नहीं खुलेंगे। इस पर अंतिम फैसला स्वास्थ्य विभाग और अन्य विभागों से चर्चा के बाद ही लिया जाएगा। डा. टेकाम ने कहा कि अभी प्रदेश में स्कूल शुरू कराने के हालात नहीं है।
रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, रायगढ़ में कोरोना के ज्यादा मरीज हैं, वहीं अन्य जिलों में भी हालात अनुकूल नहीं है कि स्कूल खोल सके। उन्होंने कहा कि बच्चों को दांव पर नहीं लगाया जा सकता। पर हम हाथ में हाथ धरे बैठे हैं। भविष्य के तैयारी जारी है, कोरोना जंग अहम भूमिका में रहने वाले विभाग जैसे हेल्थ, पंचायत, नगरीय निकाय, सभी से रायशुमारी के बाद आगे कुछ फैसला लिए जाएगा। फिलहाल स्कूल नहीं खोले जाएंगे। उन्होंने कहा है कि नियमानुसार बहुत से सावधानी, पाबंदी, कंटेमेंट जोन, संक्रमित क्षेत्र का आंकलन करना है। पहले बच्चों के पालकों से अनुमति लेना, स्कूल में बच्चों एवं शिक्षकों का प्रतिशत तय करना है। वर्तमान प्रदेश में ऑनलाईन पढ़ाई, पढ़ाई तुहर दुवार, स्पीकर से पढ़ाई, बुलटू से पढ़ाई आदि की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा बच्चों तक पुस्तक पहुंचा दिया गया है, स्कूल में भले ही पढ़ाई नहीं हो रही है, लेकिन ऑनलाइन पढ़ाई जारी है ।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Education Minister Tekam said - there are no circumstances to open schools in the state, children cannot be placed at stake


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33KNoE1

0 komentar