लॉकडाउन के दौरान सब्जी बाजार भी रहेंगे बंद, राहत देने के लिए आज सभी बाजार और दुकानें खुली रहेंगी , September 20, 2020 at 05:36AM

राजधानी में कोरोना संक्रमितों की संख्या कम करने के लिए पहली बार अब तक का सबसे सख्त लॉकडाउन किया जा रहा है। 21 से 28 सितंबर तक सब बंद होगा। ऐसा पहली बार होगा जब किराना, सब्जी, राशन, फल, नॉनवेज समेत सभी तरह की दुकानें और कारोबार बंद रहेंगे। दूध भी केवल वही लोग बेच पाएंगे जो केवल दूध ही बेचते हैं कोई और सामान नहीं। गैस सिलेंडर के लिए लोग एजेंसियों तक नहीं जा पाएंगे। उन्हें ऑनलाइन या टेलीफोन पर ही सिलेंडरों की बुकिंग करवानी होगी। दवा दुकानदारों से भी कहा गया है कि वे दवा दुकान खोल तो सकते हैं, लेकिन होम डिलिवरी पर ज्यादा काम करें।
शहर में सख्त लॉकडाउन होने की वजह से रविवार को टोटल लॉकडाउन से राहत दी गई है। इस बार के रविवार यानी 20 सितंबर को सभी बाजार और दुकानें पहले की तरह ही खुल सकेंगी। 21 सितंबर को रात 9 बजे से नए आदेश के सभी नियम लागू हो जाएंगे। शहर में लॉकडाउन की खबर फैलने के साथ ही शनिवार को दोपहर से बाजारों में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। खासतौर पर किराना और सब्जी बाजारों में लोगों ने जमकर खरीदारी की। गोलबाजार, मालवीय रोड, एमजी रोड, पंडरी, शास्त्रीबाजार, गोलबाजार, तात्यापारा समेत कई जगहों पर लोगों की भीड़ लगी रही।

कुछ दफ्तर खुलेंगे, लेकिन प्रवेश बंद
कलेक्टर के आदेशानुसार एक हफ्ते के लॉकडाउन में सभी केंद्रीय, शासकीय और अर्द्धशासकीय दफ्तरों के साथ ही प्राइवेट ऑफिस भी बंद रहेंगे। ऐसा पहली बार हो रहा है जब केंद्रीय कार्यालयों को भी बंद रखा जा रहा है। इस दौरान बैंकों में भी कामकाज नहीं होगा। लोगों को वित्तीय लेन-देन ऑनलाइन ही करना होगा।

परीक्षा देने वाले छात्रों पर असर नहीं
लॉकडाउन के दौरान 22 सितंबर को आईसीएआर और 28 को क्लेट की परीक्षा तथा 23 को छत्तीसगढ़ इंजीनियरिंग की काउंसिलिंग है। ऐसे में इन परीक्षाओं में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों को किसी भी तरह की परेशानी नहीं होगी। वे सभी परीक्षाओं में बैठ सकते हैं। कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन ने कहा कि चेकिंग के दौरान उन्हें अपना प्रवेश पत्र साथ रखना होगा। प्रवेश पत्र को ही ई-पास मानकर उन्हें राहत दी जाएगी। छात्रों को घबराने या परेशान होने की जरूरत नहीं है।

शराब दुकानें और होटल-बार भी बंद
जिले की सभी शराब दुकानों के साथ ही होटल और उनमें खुले बार भी बंद रहेंगे। अवैध शराब की सप्लाई या बिक्री न हो इसके लिए आबकारी विभाग की टीम लगातार फील्ड में मॉनिटरिंग करती रहेगी। धार्मिक, सांस्कृतिक, पर्यटन स्थल एक हफ्ते के लिए बंद रहेंगे।

इमरजेंसी में ही लोग गाड़ी से जा सकेंगे
मेडिकल इमरजेंसी होने पर ही लोग अपनी गाड़ियों से सफर कर सकेंगे। आपात स्थिति में चारपहिया वाहनों में अधिकतम 3 और दोपहिया गाड़ियों में 2 से ज्यादा लोग नहीं जा सकेंगे। इस नियम को तोड़ा गया तो 15 दिनों के लिए गाड़ी जब्त कर ली जाएगी।

ऑनलाइन नहीं मंगवा पाएंगे खाना : इस बार फूड डिलिवरी पर भी रोक लगा दी गई है। टेक अवे या होम डिलिवरी नहीं की जा सकेगी। इसके लिए होटल भी नहीं खुलेंगे। होम आइसोलेशन में रहने वाले कोविड मरीजों को भोजन की समस्या होती है तो वे इमरजेंसी नंबर 0771-2445785 और 0771-4320202 पर संपर्क कर सकते हैं। उनके लिए भोजन की व्यवस्था करवा दी जाएगी।

सीमा सील, बिना कारण निकलने वाले जाएंगे जेल
राजधानी में इस बार सबसे सख्त लॉकडाउन सोमवार 9 बजे से लागू हो जाएगा। शहर की सीमा को सील कर दिया जाएगा। जहां 24 घंटे पुलिस टीम तैनात रहेगी। शहर के भीतर भी 55 चेकिंग पॉइंट बनाए जाएंगे। सड़क पर निकलने वाले हर व्यक्ति को रोका जाएगा और कारण पूछा जाएगा। पुख्ता कारण नहीं बताए जाने पर पुलिस तगड़ा जुर्माना करेगी। पुलिस गिरफ्तार करके जेल भी भेजेगी। चर्चा है कि पुलिस को हल्का बल प्रयोग करने की भी छूट मिल गई है। क्योंकि राजधानी के आधा दर्जन से ज्यादा इलाका हॉटस्पाट बन गया हैं। इसलिए पुलिस और प्रशासन इस बार सख्ती करेंगे। एडिशनल एसपी तारकेश्वर पटेल ने बताया कि हर चौक-चौराहों पर एक-एक गाड़ियों की जांच होगी। शहर के 60 से ज्यादा चौक व सड़कों पर कैमरा लगा है। उन कैमरों से भी लोगों पर नजर रखी जाएगी। कैमरों से गाड़ी के नंबर के आधार पर जानकारी निकाली जाएगी, कोई भी सड़क पर बिना कारण खड़े या घूमते मिले। उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। हाटस्पाट वाले इलाके में ड्रोन कैमरे से नजर रखा जाएगा। पुलिस का फोकस सड़क के साथ पॉश कॉलोनियों और गली-मोहल्ले होंगे। क्योंकि इन इलाकों में लोग आदेश का पालन नहीं करते हैं। इसलिए गली-मोहल्ले के लिए बाइक पुलिस रहेगी। इन इलाकों में वहां के रहवासियों को वालंटियर बनाया जाएगा, जो पुलिस को सूचना देंगे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
आदेश के साथ ही बाजारों में भीड़ दोगुनी हो गई। तस्वीर गोलबाजार की।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33Mzu4b

0 komentar