रायपुर, बिलासपुर और अंबिकापुर में कल से सब खुल जाएगा; लेकिन नियमों की सख्ती ज्यादा रहेगी , September 28, 2020 at 01:34PM

छत्तीसगढ़ में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते रायपुर समेत बिलासपुर और अंबिकापुर में किए गए लॉकडाउन का सोमवार को अंतिम दिन है। इसके बाद मंगलवार से सामान्य दिनों की तरह ही दुकानें और अन्य प्रतिष्ठान खुल सकेंगे। हालांकि इस बार नियमों को लेकर ज्यादा सख्ती होगी। पालन नहीं करने पर जुर्माना वसूला जाएगा।

रायपुर में संक्रमण की रफ्तार को देखते हुए जिला प्रशासन ने 21 सितंबर से 7 दिन का लॉकडाउन किया था। हालांकि हालात को देखते हुए इसे फिर बढ़ाने के कयास लगाए जा रहे हैं। इस पर निर्णय के लिए सोमवार दोपहर प्रभारी मंत्री रविंद्र चौबे ने बैठक बुलाई थी। इसके लॉकडाउन को आगे नहीं बढ़ाने को लेकर फैसला लिया गया है।

दुकानों और बाजारों में रहेगी सख्ती, भीड़ एकत्र होने पर रोक
लॉकडाउन खत्म करने के साथ ही गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराने के आदेश दिए गए हैं। रायपुर में दुकानें सिर्फ रात 8 बजे तक ही खुल सकेंगी। हालांकि होटल और रेस्टोरेंट को रात 10 बजे तक होम डिलीवरी के लिए छूट दी गई है। इस दौरान मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजर समेत नियमों का पालन अनिवार्य रहेगा।

सभी दुकानें और बाजार एक साथ खुलेंगे
रायपुर के प्रभारी मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि जिस तरह से परिस्थितियां सामने आई हैं, इसे देखते हुए लॉकडाउन खत्म किया जा रहा है। हालांकि कहीं भी भीड़ नहीं होनी चाहिए। इसको लेकर जिला प्रशासन को निर्देश दे दिए गए हैं। पहले बारी-बारी से दुकानें खुलती थीं, लेकिन अब सभी दुकानें एक साथ खोली जाएंगी।

बिलासपुर, अंबिकापुर कलेक्टर अपने स्तर पर करेंगे निर्णय
वैसे तो बिलासपुर और अंबिकापुर में भी सोमवार रात से लॉकडाउन खत्म हो रहा है। इसके आगे बढ़ाए जाने को लेकर भी कोई बात सामने नहीं आई है। इसके बावजूद नियमों के पालन और अन्य निर्देशों को लेकर जिला स्तर पर कलेक्टर स्वयं निर्णय लेंगे। उनकी घोषणा के बाद ही तय होगा कि लॉकडाउन आगे नहीं बढ़ाया जा रहा है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
छत्तीसगढ़ में बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते रायपुर सहित बिलासपुर और अंबिकापुर में किए गए लॉकडाउन का सोमवार को अंतिम दिन है। इसके बाद मंगलवार से सामान्य दिनों की तरह ही दुकानें और अन्य प्रतिष्ठान खुल सकेंगे।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3kQ1Ilt

0 komentar