फर्स्ट ईयर के दाखिले पर मांगी रिपोर्ट, तारीख पर फैसला जल्द , September 29, 2020 at 05:30AM

कोरोना काल में कॉलेजों में फर्स्ट ईयर में कितना दाखिला हुआ? कितनी सीटें खाली है? इसकी पूरी रिपोर्ट उच्च शिक्षा ने विश्वविद्यालयों से मांगी है। इस रिपोर्ट की समीक्षा की जाएगी। इसके आधार पर ही यह तय होगा कि प्रवेश की तारीख बढ़ेगी या नहीं। इससे पहले उच्च शिक्षा की ओर से प्रवेश की तारीख 15 सितंबर से बढ़ाकर 30 सितंबर की गई थी। इसके अनुसार कॉलेजों में दाखिले की प्रक्रिया चल रही है।
वैसे कॉलेजों में फर्स्ट ईयर में प्रवेश की प्रक्रिया अगस्त से शुरू हुई। पं.रविशंकर शुक्ल विवि से जुड़े कॉलों में मेरिट लिस्ट बनाकर छात्रों को प्रवेश देना तय किया गया। इसके अनुसार आवेदन मंगाए गए। पहले चरण में करीब 87 हजार छात्रों ने आवेदन किया। मेरिट लिस्ट भी इसके अनुसार तैयार की गई। लेकिन इसके बावजूद शुरुआत में एडमिशन की प्रक्रिया धीमे चली। जिन छात्रों के मेरिट में नाम आए उनमें से कई छात्र प्रवेश लेने कॉलेज नहीं पहुंचे। 15 सितंबर तक की स्थिति में कई सरकारी कॉलेजों में साइंस की सीटें भर गई लेकिन कामर्स व आर्टस की कुछ सीटें खाली रही। प्राइवेट कॉलेजों में प्रवेश कम हुए। दो-तीन कॉलेजों को छोड़ दिया जाए तो 15 सितंबर तक की स्थिति में वहां 40 प्रतिशत तक भी प्रवेश नहीं हुए। इसके बाद उच्च शिक्षा की ओर से प्रवेश की तारीख बढ़ायी गई।

इसके अनुसार 23 सितंबर तक कॉलेज के प्राचार्य के निर्देशों के अनुसार कॉलेजों में प्रवेश हुए। इसके बाद फिर कुलपति की अनुमति से 30 सितंबर तक प्रवेश देना तय किया गया। इसके अनुसार अभी दाखिले की प्रक्रिया चल रही है। पिछले दिनों आवेदन मंगाए गए थे। इसके अनुसार सोमवार को मेरिट लिस्ट जारी हुई है। इसके अनुसार बुधवार तक एडमिशन होगा। इसके बाद प्रवेश होगा या नहीं यह उच्च शिक्षा के निर्देश पर निर्भर करेगा।

अक्टूबर से शुरू होगा पीजी में प्रवेश :
रविवि अध्ययनशाला समेत इससे जुड़े कॉलेजों के पीजी कक्षाओं में एडमिशन की प्रक्रिया अक्टूबर से शुरू हो जाएगी। विश्वविद्यालय में इसके लिए तैयारी की जा रही है। ग्रेजुएशन फाइनल ईयर की परीक्षाएं शुरू हो चुकी है। इसलिए यह माना जा रहा है कि नतीजे अक्टूबर में आ जाएंगे। इसके तुरंत बाद प्रवेश भी शुरू हो जाएगा। विवि अध्ययनशाला में प्रवेश के लिए पहले एंट्रेंस एग्जाम का आयोजन किया जाता था। इस बार कोरोना संक्रमण की वजह से एंट्रेंस एग्जाम होने की संभावना कम है। इसलिए अध्ययनशाला में पिछले परीक्षाओं में मिले नंबरों के आधार पर मेरिट लिस्ट के अनुसार प्रवेश दिया जा सकता है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Report sought on first year admission, decision on date soon


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2Se1MPr

0 komentar