पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह बोले- यह संघर्ष की जीत है, करोड़ों लोगों की भावना से जुड़ा मामला था , September 30, 2020 at 03:19PM

अयोध्या में बाबरी ढांचे को गिराए जाने के 28 साल बाद बुधवार को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट का फैसला आया। इसमें सभी 32 आरोपियों को बरी कर दि गया। इस पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि इस फैसले में यह साफ किया गया है कि वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती समेत अन्य लोगों को बरी किया गया है। इन नेताओं ने मंच में कोई उकसावे या ढांचे को तोड़ने की बात नहीं की। यह एक स्वाभाविक प्रतिक्रिया में टूट गया। दो बड़े फैसले आए, एक फैसले में सुप्रीम कोर्ट ने माना कि वहां राम मंदिर था, बाद में एक स्ट्रक्चर बना दिया गया। 300 साल से जो संघर्ष हुआ इसकी जीत है, मामला करोड़ों लोगों की भावना से था। यह फैसला स्वागत योग्य है ।

नेता प्रतिपक्ष बोले दूध का दूध और पानी का पानी हुआ
नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि सभी वरिष्ठ नेताओं को आरोपी बनाया गया। सारे तथ्यों के आधार पर फैसला आया। जिस प्रकार से 28 सालों तक केस चला सारे सबूत आए और सत्य की जीत हुई, दूध का दूध और पानी का पानी हो गया। दरअसल, बाबरी मस्जिद ढांचा ढहाए जाने के 265 दिन बाद मामले की जांच का जिम्मा सीबीआई को सौंपा गया। उसे पता करना था कि किसने साजिश रची, किसने ढांचा गिराया। सीबीआई टीम करीब 3 साल जांच करती रही। फिर सीबीआई के स्पेशल कोर्ट में ही सुनवाई शुरू हुई। आखिरकार 30 सितंबर को फैसला आ गया। बाबरी से सब बरी कर दिए गए।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह समेत भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने कोर्ट के फैसले पर खुशी जताई। देशभर में नेता इस पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33fimVB

0 komentar