महासमुंद में ग्रामीण बैंक मैनेजर 10 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार, मिलीभगत में चौकीदार भी पकड़ा गया , October 10, 2020 at 06:41AM

एसीबी ने शुक्रवार को ग्रामीण बैंक के मैनेजर को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। लेनदेन में मिलीभगत के आरोप में बैंक का चौकीदार भी पकड़ा गया। मैनेजर ने बंधक भूमि छोड़ने के एवज में किसान से रुपयों की मांग की थी। दोनों के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत कार्रवाई की जा रही है।

किसान ने केसीसी (किसान क्रेडिट कार्ड) के जरिए सिंघोड़ा की ग्रामीण बैंक से लोन लिया था। लोन की रकम पूरी हो जाने पर किसान ने बंधक बनाई गई जमीन को छोड़ने के लिए आवेदन किया। आरोप है कि ब्रांच मैनेजर मनीष प्रभाकर पहले तो उसे बार-बार परेशान करता रहा, फिर 10 हजार रुपए की मांग रख दी।

बैंक में ही एसीबी ने दोनों आरोपियों को ट्रैप किया
परेशान होकर किसान ने एसीबी रायपुर में शिकायत कर दी। जांच में मामला सही पाए जाने के बाद एसीबी ने ट्रैप करने की प्लानिंग की। टीम ने बैंक की शाखा में ही रुपए लेते हुए मैनेजर मनीष प्रभाकर को रंगे हाथ धर दबोचा। बैंक के चौकीदार हेमलाल यादव की भी मिलीभगत सामने आने के बाद उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
महासमुंद में एसीबी ने शुक्रवार को ग्रामीण बैंक के मैनेजर तो 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। लेनदेन में मिलीभगत के आरोप में बैंक का चौकीदार भी पकड़ा गया। मैनेजर ने बंधक भूमि छोड़ने की एवज में किसान से रुपयों की मांग की थी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/34IlCIq

0 komentar