कांग्रेस नेत्री के बेटे ने धमकी दी, फिर भीड़ पर कार चढ़ा दी, मासूम की मौत, 12 जख्मी , October 28, 2020 at 06:11AM

जिले के मालगांव गांव में सोमवार रात महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष व पूर्व पालिका अध्यक्ष ममता राठौर के बेटे रोमित राठौर का ग्रामीणों से विवाद हुआ। इसके बाद उसने धमकी देकर भीड़ पर तेज रफ्तार गाड़ी चढ़ा दी, जिससे मौके पर ही 4 साल के मासूम मोसिन सिन्हा की मौत हो गई और 12 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इस घटना से गुस्साए ग्रामीणों ने मंगलवार को दिनभर धरना-प्रदर्शन, चक्काजाम किया। इस दौरान बच्चे के शव को लेकर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग के साथ बीच सड़क पर ग्रामीण बैठ गए। ग्रामीणों ने आरोपी का घर घेर लिया और वहीं टेंट डालकर धरने पर बैठ गए। अंतत: पुलिस ने आरोपी व उसके एक साथी पर हत्या का मामला दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। चक्काजाम के चलते रायपुर देवभोग नेशनल हाईवे 9 घंटे तक बाधित रहा। वहीं भाजपा ने मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है। आरोपी के पिता ओम राठौर जिला कांग्रेस के कोषाध्यक्ष हैं। घटना में मृतक के पिता सोहन सिन्हा सहित 11 लोग घायल हो गए। घटना में गंभीर रूप से घायल सोहन सिन्हा, पोखराम सिन्हा, मो. इजमाम और ठाकुर राम निषाद को रायपुर रेफर किया गया। वहीं टिकेश्वर सिन्हा, टिकेश्वर देवांगन, हिमांशु निषाद, कमलनारायण निषाद, राजेन्द्र निषाद, बसंत निषाद को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। इसके बाद गुस्साई भीड़ ने सोमवार रात को ही पुलिस थाना पहुंचकर हंगामा किया, उसके बाद मंगलवार सुबह 7 बजे से मालगांव में नेशनल हाईवे 130 को जाम कर दिया। सुबह 10 बजे जैसे ही पीएम के बाद बच्चे का शव ग्राम मालगांव पहुंचा, ग्रामीण उसे लेकर बीच सड़क पर बैठ गए और आरोपियों की गिरफ्तारी और मुआवजा सहित अन्य मांगों को लेकर प्रदर्शन करने लगे।

चक्काजाम की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन फोर्स लेकर मौके पर पहुंचा, जिसने ने काफी देर तक लोगों को मनाने की कोशिश की परंतु आक्रोशित ग्रामीण गिरफ्तारी की मांग को लेकर अड़े रहे। प्रशासन के घंटों मशक्कत और समझाइश के बाद अंतत दोपहर 3 बजे ग्रामीण शांत हुए और बच्चे का अंतिम संस्कार कर रास्ता छोड़ा।

भाजपा ने की निष्पक्ष जांच की मांग: भाजपा ने मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की है। भाजपा नेताओं का कहना है कि यह सामान्य सड़क दुर्घटना नहीं थी। कांग्रेस से जुड़े व्यक्ति के परिवार के लोग इसमें शामिल हैं, इसलिए कार्रवाई नहीं की गई है। जब से छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनी है, कानून व्यवस्था की स्थिति लचर हो गई है। भाजपाइयों ने दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है।
इधर पूर्व सांसद चंदूलाल साहू ने भी दुख व्यक्त करते हुए मृतक एवं घायल परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। साहू ने कहा कि ऐसी घटनाएं समाज, सरकार व जनमानस में अच्छा संदेश नहीं देती। प्रशासन को घटना पर कड़ाई से कार्रवाई करनी चाहिए।

दो आरोपियों को जंगल से किया गिरफ्तार
इधर, घटना के बाद पुलिस ने कार चालक रोमित राठौर और उसके साथी सौरभ कुटारे को सुबह 5 बजे ग्राम नागाबूढ़ा के जंगल से गिरफ्तार कर लिया। कार में सवार दो और लोग फरार हैं। दोनों के विरुद्ध धारा 302, 307 और 34 के तहत मामला दर्ज कर जेल भेज दिया है। एएसपी सुखनंदन राठौर ने बताया कि हत्या के इरादे से घटना की बात सामने आने के बाद 302 के तहत मामला दर्ज किया है। मामले की विवेचना जारी है। घटना में शामिल अन्य युवकों की खोजबीन की जा रही है। आरोपियों ने क्या बयान दिया पुलिस ने अभी इसका खुलासा नहीं किया है। एसडीएम जेआर चौरसिया ने बताया कि बुधवार को ग्रामीणों के 15 सदस्यीय दल को जिला कार्यालय बुलाया गया है, जहां उनकी मांगों के संबंध में प्रभारी मंत्री से चर्चा की जाएगी। मृतक परिवार को 25 हजार रुपए तथा गंभीर रूप से घायल 4 लोगों को 10-10 हजार रुपए नगद दिए गए हैं।

ये है पूरा घटनाक्रम
लकड़ी की नकली तलवार आरोपी की कार से टकराने पर हुआ विवाद
ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि सोमवार रात 10.30 बजे कांग्रेस नेत्री ममता राठौर का पुत्र रोमित राठौर 4 दोस्तों के साथ गरियाबंद से राजिम की ओर जा रहा था। इस दौरान मालगांव में ग्रामीण दशहरा पर्व देखकर लौट रहे थे। तभी कुछ ग्रामीणों के हाथ में रखी लकड़ी की नकली तलवार उसकी कार से टकरा गई, इस बात को लेकर ग्रामीणों और कार सवार युवकों के बीच झड़प हो गई। इसके बाद देख लूंगा की धमकी देते हुए रोमित वहां से राजिम की ओर निकल गया, लेकिन 10 मिनट बाद तेज रफ्तार से वापस आया और ग्रामीणों को रौंदते हुए कोचवाय की ओर भाग निकला। कार की गति इतनी तेज थी कि ग्रामीण उसे रोक नहीं पाए और चारों युवक मौके से भाग निकलेे। ग्रामीणों ने कार का नंबर सीजी 23 जे 6520 नोट कर लिया।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Congress leader's son threatens, then kills crowd, innocent dies, 12 injured


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2HGUBxB

0 komentar