बीएड में 248 व डीएलएड में 17 छात्रों ने की मेरिट में आपत्ति , October 26, 2020 at 05:35AM

पं. सुंदरलाल शर्मा ओपन यूनिवर्सिटी में बीएड और डीएलएड के छात्रों की मेरिट लिस्ट जारी कर दी थी। मेरिट सूची पर छात्रों से दावा आपत्ति मंगाई गई थी। बीएड में 248 छात्रों ने मेरिट सूची पर आपत्ति जताई है। 90 छात्रों ने यूनिवर्सिटी के मेरिट लिस्ट को ही गड़बड़ बताया है। यूनिवर्सिटी द्वारा जारी सूची के अनुसार 90 छात्रों ने कहा है कि ओयू कुछ छात्रों का स्नातकोत्तर के अंक के आधार पर मेरिट लिस्ट बनाई है। अब ऐसे में हमारी भी मेरिट लिस्ट स्नातकोत्तर के अंकों के आधार पर निकाला जाए या फिर जिन छात्रों निकला है, उसे निरस्त किया जाए। अब ऐसे में इन सभी छात्रों के दावा-आपत्ति को ओपन यूनिवर्सिटी ने अमान्य कर दिया है। यूनिवर्सिटी ने 248 में से केवल एक छात्र के आवेदन को मान्य किया है। जो छात्र नाम में गड़बड़ी का सुधार किया है। वहीं फार्म अपडेट करने वाले छात्रों की दावा-आपत्ति भी यूनिवर्सिटी आमान्य कर दी है। वहीं डीएलएड में 17 छात्रों ने दावा-अपत्ति की है।
गौरतलब है कि ओपन यूनिवर्सिटी में बीएड की 500 सीट पर 8 हजार 796 आवेदन आए हैं। वहीं डीएलएड की 2400 सीट पर 4 हजार 816 आवेदन आए हैं। इसके साथ ही यूनिवर्सिटी ने ऑनलाइन काउंसिलिंग के लिए पंजीयन की प्रक्रिया भी शुरू कर दी है। छात्र ऑनलाइन पंजीयन, अध्ययन केंद्रों का चयन 30 अक्टूबर तक करा सकते हैं। यूनिवर्सिटी के अधिकारियों के अनुसार आरक्षण नियम और मेरिट के आधार पर ही एडमिशन होगा। इसके साथ यूनिवर्सिटी ने वेबसाइट में अध्ययन केंद्रों के नाम दिए हैं, उन केंद्रों में आवेदनकर्ता अपने दस्तावेजों का वेरिफिकेशन करा सकते हैं। शुल्क चालान के माध्यम से जमा करना है। जिस छात्र को सीट आवंटित हुई है और निर्धारित समय में एडमिशन नहीं लेंगे तो उन्हें दोबारा मौका नहीं मिलेगा। जो छात्र राज्य के बाहर से पढ़कर आए हैं, उन्हें यूनिवर्सिटी से पात्रता लेनी होगी। इसके लिए उन्हें यूनिवर्सिटी में 1100 रुपए जमा करने होंगे। पैसा जमा करने के बाद यूनिवर्सिटी एक महीने के अंदर पात्रता प्रमाण-पत्र देगी। एक बार अध्ययन केंद्र का चयन करने के बाद छात्र उसे बदल नहीं पाएगा।

वेबसाइट व एसएमएस से सीटों का आवंटन ओयू देगी
यूनिवर्सिटी सीटों का आवंटन 11 नवंबर से करेगी। सीटों का आवंटन मेरिट सूची के आधार पर होगा। इसकी जानकारी यूनिवर्सिटी छात्रों को एसएमएस के माध्यम से देगी। साथ ही यूनिवर्सिटी की वेबसाइट पर अपलोड करेगी। जिन छात्रों को सीट और अध्ययन केंद्र आवंटित होता है, उन्हें उस केंद्र में जाकर दस्तावेज वेरिफिकेशन करना है और चालान से फीस पटाना है। यह प्रक्रिया 17 से 27 नवंबर तक चलेगी। दस्तावेज वेरिफिकेशन और फीस चालान की प्रति को छात्रों को ऑनलाइन अपडेट करना होगा, तभी उनका एडमिशन मान्य होगा। सीट रिक्त होने पर द्वितीय चरण की काउंसिलिंग 3 दिसंबर से शुरू होगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3mlulYn

0 komentar