सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर युवक से 3.5 लाख रुपए ठगे; आरोप- दोनों आरोपियों ने भी फर्जी मार्कशीट से शिक्षाकर्मी की नौकरी पाई , October 08, 2020 at 09:26AM

छत्तीसगढ़ के गरियाबंद में सरकारी नौकरी लगवाने का झांसा देकर दो सगे भाइयों ने एक युवक से 3.5 लाख रुपए ठग लिए। आरोपी दोनों भाई शिक्षाकर्मी हैं और रायपुर में पदस्थ हैं। युवक का यह भी आरोप है कि दोनों भाइयों ने फर्जी मार्कशीट लगाकर नौकरी हासिल की है। करीब 12 साल बाद गरियाबंद एसपी से शिकायत की गई। इस पर आरंग थाने में केस दर्ज किया गया है।

जानकारी के मुताबिक, गरियाबंद में फिंगेश्वर के रजकट्‌टी गांव निवासी थानूराम साहू बेरोजगार था। साल 2008 में पड़ोसी गांव पत्थर्री निवासी दो भाइयों भेखलाल साहू और खेमलाल साहू की शिक्षाकर्मी के पद पर नौकरी लगी। आरोप है कि दोनों भाइयों ने थानूराम को ऊंची पहुंच होने का झांसा दिया और सरकारी नौकरी लगवाने की बात कही। इस पर थानूराम ने कर्ज से रुपयों का जुगाड़ कर 3.5 लाख रुपए दे दिए।

पहले पंचायत में किस्तों में लौटाने को हुए तैयार, फिर मुकर गए

इसके बाद भी थानूराम की नौकरी नहीं लगी। थानूराम का कहना है कि वह रुपए लौटाने की बात करता तो आरोपी टाल जाते। इस पर उसने गांव में पंचायत बुलाई। इसमें दोनों भाइयों ने रुपए लेने की बात स्वीकारी और किस्तों में लौटाने को तैयार हो गए। हालांकि फिर भी रुपए नहीं दिए और दोबारा बुलाई गई पंचायत में थानूराम को पहचानने से ही इनकार कर दिया। इसके बाद पंचायत ने पुलिस में जाने की सलाह दी।

दोनों भाइयों की मार्कशीट की कॉपी भी पुलिस को सौंपी
थानूराम ने दोनों भाइयों पर फर्जी मार्कशीट और अनुभव प्रमाणपत्र से नौकरी करने का भी आरोप लगाया है। आरोप है कि दोनों भाइयों ने फर्जी डॉक्यूमेंट लगाकर शिक्षाकर्मी ग्रेड-3 में नौकरी हासिल की। इसके बाद 12 साल से वेतन ले रहे हैं और सरकार से धोखाधड़ी की है। थानूराम ने नौकरी के दौरान लगाई गई मार्कशीट और इंटरनेट से निकाली दोनों भाइयों की मार्कशीट की कॉपी भी पुलिस को सौंपी है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
गरियाबंद में सरकारी नौकरी लगवाने का झांसा देकर दो सगे भाइयों ने एक युवक से 3.5 लाख रुपए ठग लिए। आरोपी दोनों भाई शिक्षाकर्मी हैं और रायपुर में पदस्थ हैं।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3llMlRW

0 komentar