पंडरी हत्याकांड में शामिल आरोपी ने थाने में की खुदकुशी; 4 पुलिसकर्मी लाइन अटैच, न्यायिक जांच शुरू , October 28, 2020 at 09:25PM

बुधवार की शाम एक युवक ने पंडरी पुलिस थाने में सुसाइड कर लिया। युवक टॉयलेट जाने के बहाने वॉशरूम गया, यहां बेल्ट से फंदा बनाकर अपनी जान दे दी। इस युवक का नाम अश्वनी मानिकपुरी है। रविवार को पंडरी के मंडी चौक राम मंदिर के पास हुई हत्या की वारदात के सिलसिले में इसे पूछताछ के लिए थाने लाया गया था। घटना के कुछ ही देर बाद न्यायिक जांच शुरू कर दी गई। कांस्टेबल खेलन साहू, देवधर जंघेल, नंदकिशोर गुप्ता और मंजीत केरकेट्‌टा को इस मामले में लाइन अटैच कर दिया गया है। पूरे मामले की न्यायिक जांच शुरू हो गई है। मृतक के परिजनों का मजिस्ट्रेट ने बयान लिया है।

मृतक परिजनों से पूछताछ की गई।

यह है पूरा मामला
पुलिस कस्टडी में हुई यह मौत हत्या के केस से जुड़ी है। रविवार को पंडरी इलाके में अमित गाइन नाम के युवक को कुछ बदमाशों ने चाकू मारा था। मंगलवार को इलाज के दौरान अमित की मौत हो गई। इसी मामले में पुलिस बुधवार की दोपहर अश्वनी को पलारी से पकड़कर लाई, यह वहां अपने किसी रिश्तेदार के घर पर छुपा बैठा था। शाम को अश्वनी की मौत की खबर आई। घटना के वक्त थाने में अश्वनी का जीजा जीवन यादव भी मौजूद था। इसे पुलिस अश्वनी के बारे में पूछताछ करने लेकर आई थी। इसी के सामने अश्वनी वॉशरूम गया और जान दे दी। जीवन ने बताया कि पुलिस ने अश्वनी के साथ किसी तरह की मारपीट नहीं की थी, आखिर उसने जान क्यों दी यह मुझे भी समझ नहीं आया।

पंडरी थाने के इसी टॉयलेट में अश्वनी ने जान दे दी।

हत्या के बाद इस घटना से और उलझ गया केस
एक दिन पहले हुई अमित गाइन की मौत के बाद मृतक ने परिजनों ने पुलिस पर सवाल उठाए थे। परिजन का दावा था कि अमित का बयान नहीं लिया गया। अब मामले में आरोपी की इस तरह खुदकुशी की घटना सामने आने के बाद केस पेचीदा हो चला है। एडिशनल एसपी लखन पटले ने बताया कि इस बात की जांच होगी कि आखिर कहां लापरवाही हुई। अमित की हत्या के मुख्य आरोपी मोहन सोनी, दिलीप बाघ समेत 2 नाबालिगों को पकड़ लिया गया है। इनके साथ मिलकर अश्वनी ने अमित पर मामूली बात पर विवाद के बाद चाकू से हमला किया था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फोटो हत्या के आरोपी अश्वनी की है। पुलिस इसे करीब 30 मिनट पहले ही थाने लेकर आई थी, और इसने जान दे दी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3kxa6GJ

0 komentar