दरिंदगी पर फूटा लोगों का गुस्सा, सड़कों पर उतरकर मांगा इंसाफ, विधायक दल ने निंदा प्रस्ताव किया पारित , October 02, 2020 at 05:53AM

उत्तरप्रदेश के हाथरस में सामूहिक दुष्कर्म के बाद युवती की मौत से पूरा देश भड़क गया है। शहर की सड़कों पर भी लगातार दूसरे दिन लोगों का गुस्सा दिखा। कहीं कैंडल जलाए गए तो कहीं स्लोगन लिखे बैनर-पोस्टर लेकर प्रदर्शन किया गया। वहीं मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस पूरे घटनाक्रम पर योगी सरकार के रवैये को अलोकतांत्रिक और अस्वीकार्य बताया है।

सीएम बघेल ने विधायक दल की बैठक में रखा निंदा प्रस्ताव
छत्तीसगढ़ विधायक दल ने इस मामले पर निंदा प्रस्ताव पारित किया‌ है। सीएम बघेल के द्वारा रखे गए प्रस्ताव में कहा गया कि यूपी में लगातार हो रही महिला उत्पीड़न की घटनाओं पर योगी सरकार का ‌अलोकतांत्रिक रवैया अस्वीकार्य है। साथ ही यह भी कहा गया कि हाथरस में पीड़ित परिवार से मिलने जा रहे राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के साथ पुलिस ने जिस तरह दुर्व्यवहार किया, निंदनीय है।

कैंडल लेकर गांधी की मूर्ति तक गए कांग्रेसी, 2 मिनट का मौन रखा
कांग्रेसियों ने घड़ी चौक से टाउन हॉल तक कैंडल मार्च निकाला। गांधीजी की मूर्ति के सामने 2 मिनट का मौन रख दुष्कर्म पीड़िता को श्रद्धांजलि दी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा, पीड़िता के परिवार काे हिंदू रीति-रिवाज से अंतिम संस्कार नहीं करने दिया गया, यह योगी सरकार के हिंदूत्व के झूठे चेहरे को बेनकाब करता है। शहर अध्यक्ष गिरीश दुबे ने पीड़ित परिवार को जल्द न्याय देने की मांग की। इस दौरान मेयर एजाज ढेबर, शकुन डहरिया, पंकज शर्मा, उधोराम वर्मा आदि मौजूद रहे।

माकपा की मांग- बर्खास्त हों डीएम-एसपी
माकपा, दलित शोषित मुक्ति मंच, एसएफआई समेत कई जनवादी संगठनों ने शाम को कलेक्टोरेट के पास डॉ. अंबेडकर की मूर्ति के सामने प्रदर्शन किया। संगठनों ने राष्ट्रपति से मांग की मांग है कि घटना के लिए जिम्मेदार योगी सरकार, हाथरस के कलेक्टर और एसपी को तत्काल बर्खास्त किया जाए। संगठनों ने यह आरोप भी लगाए हैं कि योगी सरकार दलितों और गरीबों के साथ ऐसा दुर्व्यवहार कर रही है। इस दौरान धर्मराज महापात्रा, राजेश अवस्थी, नजीत अवस्थी, प्रदीप गभने आदि मौजूद रहे।

बेटी बचाओ मंच ने दीये जलाए, श्रद्धांजलि दी
डंगनिया बेटी बचाओ मंच ने घटना के विरोध में काले कपड़े पहनकर विरोध प्रदर्शन किया। साथ ही डंगनिया चौक में शाम 5 से 7 बजे के बीच 111 दीये जलाकर पीड़िता को श्रद्धांजलि दी। प्रदेश अध्यक्ष ललित मिश्रा व महासचिव भारतीय अवतार शर्मा ने मांग की है कि दोषियों को तीन माह के भीतर फांसी की सजा दी जानी चाहिए। इस दौरान मृणालिनी मिश्रा, कृष्णा वर्मा, अमृता श्रीवास्तव, नीतीश शुक्ला, कांति तिवारी आदि मौजूद रहे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
कलेक्टोरेट चौक के सामने प्रदर्शन।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/33jePWc

0 komentar