समय पर न्याय नहीं मिलना चिंता का विषय; सभी जिलों में बने फास्ट ट्रैक कोर्ट, यौन अपराधों की सुनवाई के लिए अधिसूचित करें , October 13, 2020 at 06:32AM

महिलाओं और बच्चों के प्रति बढ़ते यौन अपराधों को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने चिंता व्यक्त की है। साथ ही सभी जिलों में फास्ट ट्रैक कोर्ट खोले जाने को कहा है। इसको लेकर सोमवार को छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस पीआर रामचंद्र मेनन को पत्र लिखा। इसमें चीफ जस्टिस से फास्ट ट्रैक कोर्ट अधिसूचित करने का अनुरोध किया है।

मुख्यमंत्री बघेल ने पत्र में लिखा है कि देश में महिलाओं और बच्चों के विरुद्ध यौन अपराध गंभीर चिंता का विषय है। इस संबंध में पर्याप्त कानून भी बने हैं, उसके बावजूद अपराधों में कमी होते नहीं दिख रही है। समय पर न्याय नहीं मिल पाना भी गंभीर चिंता का कारण है। राज्य के न्यायालयों में ऐसे अपराधों पर शीघ्र और तत्परता से विचार की जरूरत है।

समय सीमा में और दिन-प्रतिदिन हो सके सुनवाई
उन्होंने लिखा कि यह हमारा दायित्व है कि यौन अपराधों के पीड़ितों को त्वरित न्याय मिले और दोषी को अतिशीघ्र कठोर दंड मिल सके। इसके लिए उचित होगा कि प्रदेश के सभी जिलों फास्ट ट्रैक कोर्ट अधिसूचित किए जाएं। जिससे ऐसे मामलों की सुनवाई समय सीमा और दिन-प्रतिदिन हो सके। मुख्यमंत्री बघेल ने न्यायमूर्ति मेनन से इस विषय में आवश्यक निर्देश जारी करने का अनुरोध किया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस पीआर रामचंद्र मेनन को पत्र लिखकर सभी जिलों में फास्ट ट्रैक कोर्ट अधिसूचित करने का अनुरोध किया है। 


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2SP1a3m

0 komentar