सोशल डिस्टेंस के साथ शैलपुत्री की पूजा, बंजारीधाम में एसपी संतोष सिंह के हाथों से प्रज्ज्वलित हुई मनोकामना ज्योत , October 18, 2020 at 05:43AM

नवरात्रि पूजा की शुरुआत शनिवार से हो गई। पहले दिन देवी मंदिरों में बड़ी संख्या में श्रद्धालु देवी का दर्शन करने के लिए पहुंचे। पहली बार ऐसा हुआ कि कोरोना संक्रमण की वजह से मंदिरों में सोशल डिस्टेंसिंग और सख्ती के बीच भक्तों को देवी का दर्शन करना पड़ा। मंदिर में प्रसाद या भोग चढ़ाने पर रोक थी। भक्तों ने देवी मां दूर से ही दर्शन किया। मंदिर के गर्भगृह किसी को जाने की अनुमति नहीं दी गई। दूर से ही भक्तों ने ज्योत और माता के दर्शन किए।

बूढ़ी माई मंदिर

श्रद्धालुओं को मंदिर के भीतर जाने की अनुमति नहीं थी फिर भी मंदिर के बाहर ही भक्तों की भीड़ सुबह 8 बजे से देर शाम तक लगी रही। इस बार यहां पर कोरोना संक्रमण की वजह से किसी भी तरह का कोई धार्मिक आयोजन भी नहीं किया जा रहा है।

गुजराती समाज ने भी की पूजा-अर्चना

दरोगापारा देवी की प्रतिमा स्थापित की गई है। शनिवार की सुबह गुजरात समाज के लोगों ने यहां पर पूजा अर्चना करने के बाद घट स्थापना की। अध्यक्ष हेमंत चावड़ा ने बताया कि इस बार यहां पर गरबा डांडिया का आयोजन सादगीपूर्वक तरीके से किया जा रहा है। देर रात 9 बजे दरोगा पारा में कुछ सदस्यों ने गरबा किया।

बंजारी धाम मंदिर

घट स्थापना कार्यक्रम में एसपी संतोष कुमार सिंह शामिल हुए। उन्होंने जिले में कोरोना महामारी से मुक्ति व सुख शांति सुरक्षा की कामना की। श्रद्धालुओं को मास्क भी दिया। गुजराती समाज के लोगों ने घट स्थापना की पूजा करने के बाद देर शाम को सादगीपूर्वक गरबा का भी आयोजन किया। समिति को प्रशासन से पहले ही अनुमति ली गई थी।

अनाथालय का दुर्गा मंदिर

यहां सोशल डिस्टेंसिंग के साथ देवी का दर्शन कराया गया। एंट्री गेट पर भक्तों के नाम और मोबाइल नंबर दर्ज किया गया । हाथ सैनिटाइज कराने के बाद उन्हें मंदिर में प्रवेश दिया गया। भक्तों को देवी के ऑनलाइन भी दर्शन कराए जा रहे हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
बूढ़ी माई मंदिर में बाहर से ही देवी की पूजा करते भक्त।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3o0svxN

0 komentar