ढाबे को नशे का अड्‌डा बनाकर अफीम-डोडा की तस्करी, संचालक सहित दो महिलाएं गिरफ्तार , October 28, 2020 at 05:09AM

ड्रग्स के बाद अब राजधानी में अफीम और डोडा का रैकेट फूटा है। पुलिस ने मंदिरहसौद के ढाबा संचालक के साथ दो महिलाओं को पकड़ा है। ढाबा संचालक ने ट्रक ड्राइवरों को अपना कुरियर बनाया था। वह उनसे हरियाणा, बंगाल और पंजाब से अफीम व डोडा मंगवाकर महिलाओं की मदद से राजधानी में तस्करी करवा रहा था। पुलिस को जांच में पता चला है कि ढाबा संचालक सुंदर सिंह संधु काफी अर्से से नशे का धंधा चला रहा है। युवतियों में नशे का क्रेज देखकर और पुलिस को झांसा देने वह महिलाओं से तस्करी करवा रहा था। पुलिस ने आरोपियों से 12 किलो अफीम और 44 किलो डोडा जब्त किया है।
एसएसपी अजय यादव ने बताया कि श्यामनगर निवासी सुंदर सिंह का मंदिर हसौद रोड में शेरे पंजाब ढाबा है। वह श्याम नगर में किराए के मकान में रहता है। उसने अपने पड़ोस में रहने वाली शोभा सावलानी को डोडा-अफीम की तस्करी के लिए तैयार किया। शोभा की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। उसने पैसों के लिए अफीम तस्करी करना स्वीकार कर लिया। शोभा ने अपनी पुरानी पड़ोसन रह चुकी किरण चंदानी को साथ में मिलाया और दोनों केनाल रोड में बने आर्च के पास खड़े रहकर अफीम व डोडा बेचने लगे। ड्रग्स की जांच के दौरान पुलिस को अफीम-डोडा के धंधे का पता चला। एसएसपी यादव ने सायबर क्राइम सेल प्रभारी रमाकांत साहू को तस्करों को पकड़ने की जिम्मेदारी सौंपी।

जांच में क्लू मिलने के बाद सायबर क्राइम सेल के दो जवान सादी वर्दी में अफीम खरीदने पहुंचे। उन्होंने महिलाओं से अफीम का सौदा किया। 14 हजार में अफीम का पुड़िया का सौदा किया गया। मंगलवार को सिपाही रुपए लेकर गए और महिलाओं से पुड़िया खरीदा।
उसके बाद पुलिस टीम ने शोभा और किरण को हिरासत में लिया। महिलाओं से पूछताछ में ढाबा संचालक सुंदर सिंह का नाम सामने आया। सुंदर को गिरफ्तार कर लिया गया। सुंदर के घर व ढाबे में छानबीन के दौरान अफीम और डोडा बरामद किया गया हैं। पुलिस सुंदर से पूछताछ कर रही हैं। प्रारंभिक पड़ताल में खुलासा हुआ है कि पिछले 3 सालों से सुंदर नशे का काम कर रहा है। ढाबा में भी अफीम और डोडा बेचता है।

ढाबे में नशे की पार्टियां
पुलिस की पड़ताल में पता चला है कि संधु के ढाबे में भी नशे की पार्टी आयोजित की जाती रही हैं। वहां चोरी छिपे शराब पिलाने के साथ अफीम-डोडा और गांजा भी उपलब्ध कराया जाता था। ढाबे में ज्यादातर ट्रांसपोर्ट से जुड़े लोग या बड़ी गाड़ियां चलाने वाले आते हैं। पता चला है कि घरों से बाहर रहकर पढ़ने वाले भी कई छात्र-छात्राएं अक्सर ढाबे में नशा करने पहुंचते थे। युवतियों में नशे का ट्रेंड देखकर ही उसने अफीम बेचने के लिए महिलाओं को शामिल किया था।

होटल के बाद ढाबों को पुलिस का नोटिस
पुलिस ने कुछ दिन पहले शहर के सभी होटल-रेस्टोरेंट काे नोटिस जारी किया था। अब पुलिस शहर के ढाबों को नोटिस जारी करने की तैयारी है। उन्हें चेतावनी दी जाएगी कि नशे के धंधे का पता चलने पर ढाबों को बंद कर दिया जाएगा। ढाबे के भीतर या पार्किंग में शराब न पिलाने पर सख्ती से पाबंदी लगायी गई है। ऐसा करते पकड़े जाने पर सीधे ढाबे के मालिकों पर कार्रवाई की जाएगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
पुलिस गिरफ्त में आरोपी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3oGbOrZ

0 komentar