जगदलपुर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बोले- झीरम घाटी कांड की जांच में केंद्र डाल रहा अड़ंगा; लालबाग में रखी शहीद स्मारक की आधारशिला , October 29, 2020 at 06:15AM

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने झीरम घाटी हत्याकांड मामले में एक बार फिर केंद्र की भाजपा सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा कि शहीदों को मारने वालों का नाम हम जानना चाहते हैं। उनकी गिरफ्तारी हो, लेकिन केंद्र सरकार अड़ंगा लगा रही है। एनआईए जांच नहीं कर रही है और न हमको करने दे रही है। मुख्यमंत्री बघेल बुधवार को जगदलपुर पहुंचे हैं। यहां लालबाग में झीरम शहीद स्मारक की आधारशिला रखी।

जगदलपुर में मां दंतेश्वरी के मंदिर में पहुंचकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बस्तर सांसद दीपक बैज ने दर्शन और पूजन किया।

मुरिया दरबार में मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री बघेल ने के निशाने पर भाजपा ही रही। उन्होंने कहा, भाजपा खामोश नहीं है। अंदर ही अंदर षड्यंत्र कर रही होगी। इसका पता भी आप लोग लगाइये। मुख्यमंत्री बघेल ने कहा, नगरनार का निजीकरण नहीं होना चाहिए। एनमएडीसी को प्लांट लगाने के लिए लोगों ने जमीन दी। निजीकरण रोकने के लिए अपने स्तर पर जो कार्यवाही होगी करेंगे।

बस्तर में जहां खाली शासकीय जमीन वहां लगेंगे छोटे प्लांट

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, हम नगरनार और टाटा जैसा बड़ा प्लांट नहीं लगाएंगे। बस्तर में छोटे-छोटे प्लांट लगेंगे, जिससे लोगों को रोजगार मिल सके। उन्होंने कहा, दंतेवाड़ा में 500 एकड़ जमीन है। कोंडागांव में है और जहां सरकारी जमीन खाली है वहां उद्योग लगेंगे। वहीं बोधघाट प्रोजेक्ट को लेकर बोले कि बांध छत्तीसगढ़ के लोगों के लिए बनेगा। दुनिया की सबसे बेहतर पुनर्वास नीति को स्वीकृति दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट से बीजापुर, दंतेवाड़ा, सुकमा, कोंडागांव, नारायणपुर के लोगों को लाभ मिलेगा। ऐसा नहीं होगा, जैसा मध्य प्रदेश में नर्मदा नदी पर है। बांध मध्य प्रदेश में बना है और फायदा गुजरात के लोगों को हो रहा है। सीएम ने कहा, इंद्रावती नदी यहां से जाती है और लाभ पड़ोसी राज्य लेते हैं। उन्होंने नदी पर बांध बना लिया, लेकिन प्रदेश के लोगों को कोई फायदा नहीं मिला है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सिरहासार पहुंचे और बस्तर दशहरा के दौरान होने वाले मुरिया दरबार में शामिल हुए हैं। यहां पर सांसद दीपक बैज ने पगड़ी पहनाकर स्वागत किया।

मां दंतेश्वरी के दरबार में पहुंच मुख्यमंत्री ने की पूजा

इससे पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मां दंतेश्वरी के दर्शन और पूजन के लिए पहुंचे। इसके बाद सिरहासार पहुंचे और बस्तर दशहरा के दौरान होने वाले मुरिया दरबार में शामिल हुए हैं। यहां पर सांसद दीपक बैज ने मुख्यमंत्री बघेल को पगड़ी पहनाकर स्वागत किया। इस दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सांसद बैज की मांग पर दशहरा समिति से जुड़े सभी लोगों के मानदेय बढ़ाने की घोषणा की।

दशहरा समिति से जुड़े जिनके भी वनाधिकार पट्टे, छह माह में मिलेंगे

मुख्यमंत्री बघेल ने दशहरा समिति से जुड़े लोगों के वन अधिकार पट्टे होने पर उन्हें देने का निर्देश कलेक्टर को दिया है। कहा कि छह माह के अंदर ग्राम सभा कर पट्‌टे दिए जाएं। वहीं समिति में खाली पदों को भी छह माह में भरने और तहसीलदार परिसर में मांझी भवन के उन्नयन के लिए 10 लाख रुपए देने की घोषणा की। इसके साथ ही मंदिर में शेड निर्माण के लिए भी 10 लाख रुपए की घोषणा की है।

मुरिया दरबार में हो रहे कार्यक्रम के दौरान सांसद दीपक बैज ने मंदिर और दशहरा समिति से जुड़े सभी लोगों का मानदेय बढ़ाने की मांग रखी है।

दशहरा समिति से जुड़े लोगों का मानदेय बढ़ाया

मांझी को 2000 प्रति माह, चालकी को 1000 रुपए, सदस्य कार्यकारिणी को 1100 रुपए, साधारण सदस्य को 1500 रुपए वार्षिक, पुजारी को 3500 रुपए प्रतिमाह, राउत और सेवादार को 1750 रुपए, कैलादेवी पुजारी, राजुलवाली, भंडारी देवी पुजारी, बाजक वादक, मोरी बाजा वादक, पूजा विधान को 1500-1500 रुपए सालाना, जोगी को 15000 रुपए और दो रथ निर्माण के लिए अब 21-21 हजार रुपए मिलेंगे।

मुख्यमंत्री बघेल ने जगदलपुर के लालबाग में झीरम शहीद स्मारक की आधारशिला रखी। इस दौरान उन्होंने बस्तर क्षेत्र के लोगों को 562.77 करोड़ रुपए के विकास कार्यों की सौगात भी दी।

लालबाग में रखी झीरम शहीद स्मारक की आधारशिला

इस कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री बघेल ने जगदलपुर के लालबाग में झीरम शहीद स्मारक की आधारशिला रखी। इस दौरान उन्होंने बस्तर क्षेत्र के लोगों को 562.77 करोड़ रुपए के विकास कार्यों की सौगात भी दी। इसमें 158 कार्यों का लोकार्पण और 224 कार्यों का शिलान्यास किया। हितग्राहियों को भी सामग्री प्रदान की गई। इस दौरान ही कई कार्यों का लोकार्पण भी किया।

82 हजार से ज्यादा हितग्राहियों को सामग्री वितरण, अन्य जिलों में भी होंगे विकास कार्य

  • 82235 हितग्राहियों को 512 लाख रुपए से अधिक के हितग्राहीमूलक सामग्री का वितरण किया गया।
  • बस्तर जिले में 3515.94 करोड़ रुपए के 18 विकास कार्यों का लोकार्पण और 104.48 करोड़ से अधिक राशि के 31 कार्यों का भूमिपूजन।
  • दंतेवाड़ा के लिए 161.60 करोड़ रुपए से अधिक के 140 विकास कार्यों का लोकार्पण और 107.32 करोड़ रुपए से अधिक के 125 कार्यों का भूमिपूजन।
  • कांकेर जिले के लिए 69.33 करोड़ रुपए से अधिक के 33 कार्य।
  • कोंडागांव जिले के लिए 35.72 करोड़ रुपए से अधिक के 18 कार्य।
  • सुकमा जिले के लिए 39.26 करोड़ रुपए से अधिक के 15 कार्य।
  • नारायणपुर जिले के लिए 4.39 करोड़ रुपए से अधिक के एक विकास कार्य का भूमिपूजन।
    बस्तर दशहरा के आयोजन में सहयोग के लिए मांझी, चालकी सहित बस्तर दशहरा समिति के सदस्यों और कर्मचारियों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

झंडा मांझी के छायाचित्र का लोकार्पण
मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने इस मौके पर झंडा मांझी के छायाचित्र का लोकार्पण किया। बस्तर दशहरा के उत्कृष्ट आयोजन में सहयोग के लिए मांझी, चालकी सहित बस्तर दशहरा समिति के सदस्यों और कर्मचारियों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर बस्तर राजपरिवार के सदस्य और माटी पुजारी कमलचंद भंजदेव, संसदीय सचिव रेखचंद जैन मौजूद थे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बुधवार को जगदलपुर के लालबाग में झीरम शहीद स्मारक की आधारशिला रखेंगे। इस दौरान वे पूरे बस्तर क्षेत्र के लोगों को 562.77 करोड़ रुपए के विकास कार्यों की सौगात भी देंगे। इससे पहले बस्तर दशहरा का संचालन करने वाले मांझी-चालकियों के साथ मुख्यमंत्री ने जमीन में बैठकर पुलिस मेस में भोजन किया।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3oxiEQn

0 komentar