जोगी के करीबी आरके राय जाएंगे भाजपा के साथ, कहा-क्षेत्रीय दल में कोई भविष्य नहीं , October 30, 2020 at 06:55PM

मरवाही उपचुनाव में मतदान से पहले ही दिवंगत पूर्व मुख्यमत्री अजीत जोगी का सपना बिखरता दिख रहा है। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के दो विधायकों देवव्रत सिंह और प्रमोद शर्मा के कांग्रेस में शामिल होने की अटकलों के बीच जोगी के करीबी और गुंडरदेही से विधायक रहे आरके राय ने भाजपा के साथ जाने की घोषणा कर दी है।

दैनिक भास्कर के साथ चर्चा में आरके राय ने बताया, आज वे मरवाही में भाजपा के कई कार्यक्रमों में शामिल हुए थे। उन्होंने भाजपा के साथ जुड़ने का मन बना लिया है। छत्तीसगढ़ में किसी क्षेत्रीय दल का कोई भविष्य नहीं है। इसलिए वे भाजपा जैसी राष्ट्रीय पार्टी के साथ अपना भविष्य देख रहे हैं। उन्होंने कहा, सरकार के साथ जाना होता तो वे भी कांग्रेस के साथ जाते लेकिन वे राष्ट्रीय स्तर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे नेतृत्व के साथ जुड़ना चाहते हैं। प्रदेश नेतृत्व से उनकी बात भी हो गई है। अगले कुछ दिनों में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह पार्टी में प्रवेश की तारीख तय करेंगे तो औपचारिक रूप से प्रवेश ले लिया जाएगा। आरके राय ने दावा किया कि जनता कांग्रेस से कई लोग भाजपा में जाने को तैयार हैं। आरके राय ने दावा किया, पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी से भी उनकी कई बार इस मुद्दे पर चर्चा हुई थी। तय हुआ था कि किसी राष्ट्रीय दल के साथ जुड़कर ही भविष्य की राजनीति की जाए, इसी में प्रदेश का भी भला है। आरके राय जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ विधायक दल के सचिव और पार्टी की केंद्रीय कोर कमेटी के सचिव भी हैं। उनके भाजपा में जाने को अमित जोगी के लिए तगड़ा झटका माना जा रहा है।

राहुल गांधी को गधा कहा था

राज्य पुलिस सेवा के अधिकारी रहे आरके राय को अजीत जोगी ही राजनीति में लाए थे। गुंडरदेही विधानसभा में उन्हें कांग्रेस का टिकट मिला और जीते। 2016 में अजीत जोगी ने अलग पार्टी बनाई तो कांग्रेस विधायक रहते हुए आरके राय उनके साथ मंच पर मौजूद थे। आरके राय ने कांग्रेस नेतृत्व को कई बार असहज किया। एक बार उन्होंने राहुल गांधी के लिए कह दिया कि वे गधे हैं, जिन्हें घोड़ा नहीं बनाया जा सकता। उसके बाद कांग्रेस ने उन्हें निलंबित कर दिया। उसके बाद भी, राय विधानसभा में कांग्रेस विधायक बने रहे।

अमित ने कहा, धर्मजीत सिंह भी रमन सिंह से मिले हैं

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष अमित जोगी ने कहा, आरके राय ने शुक्रवार को मरवाही में भाजपा नेताओं के साथ मंच साझा किया, यह उनकी जानकारी में है। पार्टी विधायक दल के नेता धर्मजीत सिंह भी आज डॉ रमन सिंह से मिले हैं। हमारे बीच कोई असहमति नहीं है। प्रशासन हमें मंच नहीं दे रहा है। ऐसे में हम भाजपा के मंच का इस्तेमाल अपने परिवार के लिए न्याय मांगने में कर रहे हैं। अमित जोगी ने कहा, जल्दी ही सभी वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाकर इन मुद्दों पर विस्तृत चर्चा कर ली जाएगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
राज्य पुलिस सेवा के अधिकारी रहे आरके राय को अजीत जोगी राजनीति में लाए थे। फाइल फोटो।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2TEa1Fi

0 komentar