कोरोनाकाल में 40 फीसदी ज्यादा शादी, घंटों के स्लॉट में होटलों की बुकिंग , November 29, 2020 at 06:08AM

कोरोनाकाल में पिछले साल की तुलना इस बार 40% ज्यादा शादी हो रही हैं। तुलसी पूजा के बाद स्थिति ऐसी बनी है कि ट्विनसिटी में समारोह आयोजित करने वाले मांगलिक भवन से लेकर होटल्स तक की बुकिंग हाउसफुल हो गई। पिछले साल मुहूर्त में 200 से 250 शादी हुई थी। इस सीजन में 350 शादी हो रही है। 315 की अनुमति जिला प्रशासन ने दी है। कोरोना के कारण ट्विनसिटी के कई होटल्स और गेस्ट हाउस में दिन में घंटों के हिसाब के समारोह बुक हुए हैं।

जिला प्रशासन ने कार्यक्रम में 200 मेहमानों की उपस्थिति के साथ समारोह आयोजित करने की अनुमति दे दी है। लेकिन सीजन में शादी के लिए मूहूर्त 11 दिसंबर तक होने की वजह से शादियों की संख्या में करीब दोगुने इजाफा हो गया है। गेस्ट हाउस लेकर होटल्स में घंटों के लिए बुकिंग हो रही है। दिसंबर तक शादी के मुहूर्त है।

200 से ज्यादा गेस्ट नहीं हो सकेंगे शादी में शामिल

इस बार डिजिटल कार्ड का ट्रेंड: विवाह समारोह के अनुमति देने के साथ मेहमानों की संख्या सीमित है। 200 से ज्यादा गेस्ट नहीं आ सकेंगे। कार्ड व्यवसायी सचिन मेहुल ने बताया कि इस बार पिछले साल की तुलना में इस सीजन के निमंत्रण पत्र बनवाने वाले लोगों की संख्या ज्यादा है। 100 से 150 तक कार्ड ही छपवा रहे हैं। डिजिटल कार्ड का ट्रेंड बढ़ा है।

बड़े-बड़े होटलों में एक दिन में दो से तीन बुकिंग: मैरिज होम या मांगलिक भवनों में गेस्ट की क्षमता के 50% लोगों को ही कार्यक्रम में बुलाने की अनुमति है। इनकी संख्या 200 से ज्यादा नहीं होनी चाहिए। सीजन में विवाह के मूहूर्त सीमित होने की वजह से इन बड़ी क्षमता वाले गेस्ट हाउस और होटल संचालकों ने घंटों के हिसाब से बुकिंग लेना शुरू कर दिया है।

30 को एक ही दिन में ट्विनसिटी के 150 जोड़ों की होगी शादी

आचार्य मोनू महाराज ने बताया कि इस सीजन में मात्र पांच से छह विवाह के लिए मूहूर्त हैं। आखिरी मूहूर्त 11 दिसंबर को है। इसमें सबसे बड़ा साया 30 नवंबर और 11 दिसंबर को है। 30 नवंबर को स्थिति ऐसे है कि ट्विनसिटी में करीब 150 जोड़े एक साथ विवाह बंधन में बंधेंगे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
भिलाई के एक होटल में शादी से पहले सगाई हो रही है। गेस्ट के लिए दूर-दूर कुर्सियां रखी गई है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3ldR2gl

0 komentar