फल चोरी के झूठे इल्जाम से गुस्साए 7वीं के छात्र ने की थी बुजुर्ग महिला की हत्या , November 27, 2020 at 04:00AM

आमाबेड़ा थाना के गांव पुसाघाटी में बुजुर्ग महिला के अंधे कत्ल की गुत्थी पुलिस ने डेढ़ माह बाद सुलझा ली। हत्या आरोपी कक्षा सातवीं का एक नाबालिग छात्र निकला जिसने महिला की हत्या सिर्फ इसलिए कर दी क्योंकि वह उस पर चोरी का इल्जाम लगाती थी।
छात्र ने हत्या करने से पहले महिला से पूछा भी कि बड़ी मां (गांव के रिश्ते में) मैंने तो चोरी नहीं की, फिर क्यों आप मुझ पर झूठे इल्जाम लगाती हो। उसकी बात सुनकर महिला उसे और लताड़ने लगी। इससे छात्र बौखला उठा। उसने पास ही पड़े पत्थर को उसके सिर पर पटक दिया। आमाबेड़ा थाना प्रभारी बीआर ध्रुव ने बताया छात्र को हिरासत में लेकर नाबालिग होने के कारण सुधार गृह जगदलपुर भेजा गया। डेढ़ माह पूर्व 10 अक्टूबर 2020 को पुसाघाटी निवासी 70 साल की महिला रताया बाई गोटा की उसके खेत में पत्थर से सिर कुचल कर हत्या कर दी गई थी। पुलिस सभी एंगल से जांच कर रही थी लेकिन कोई सुराग नहीं मिल रहा था। गांव में कई बैठकें हुई, लोगों से पूछताछ भी की गई लेकिन फिर भी गुत्थी नहीं सुलझी। पुलिस ने अपने मुखबिर तैनात किए। जानकारी मिली कि गांव के ही कक्षा सातवीं के 14 वर्षीय छात्र की भूमिका संदेहास्पद है। पुलिस ने उसे दोबारा बुलाकर पूछताछ की तो उसने पूरी कहानी को बता दी। छात्र के अनुसार महिला उस पर आए दिन चार व अन्य फल चुराने का आरोप लगाती थी जबकि उसने चोरी की ही नहीं थी। झूठे आरोप से वह बेहद गुस्से में था तथा महिला की हत्या करने मौका तलाश रहा था। 10 अक्टूबर को छात्र जब स्कूल से आया तो महिला उसे खेत में अकेली मिली तो वह वहां पहुंचा। उसने गांव के रिश्ते में उसे बड़ी मां कहते हुए झूठे इल्जाम लगाने का कारण पूछा। महिला के जवाब से गुस्साकर उसने उसे लात मारा जिससे वह खेत में गिर गई। फिर मेढ़ में पड़े पत्थर को उसके सिर पर पटक दिया। फिर उसी पत्थर से उस पर तीन बार ताबड़तोड़ वार कर वहां से भाग गया और छुपते हुए घर आ गया।

पहली पूछताछ में पुलिस को करता रहा गुमराह
हत्या के बाद पुलिस ने संदिग्धों की सूची बना उनसे पूछताछ की। इस सूची में छात्र का नाम भी था। पुलिस ने जब उससे पूछताछ की तो वह गुमराह करते बताया कि उसने भी वहां आवाज सूनी थी। जिसके बाद वह डर कर वहां से भाग गया। उसके वहां से भागने की बात पुलिस को रास नहीं आई थी। पुलिस को उसके खिलाफ कुछ सबूत भी मिले थे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/36c1Uai

0 komentar