गौठान बनेंगे रोजगार के केंद्र, सीएम ने दिए 77 हजार गोबर विक्रेताओं को 8.97 करोड़ , November 07, 2020 at 06:08AM

गोधन न्याय योजना के तहत प्रदेश के 77 हजार से अधिक गोबर विक्रेताओं के खाते में शुक्रवार को 8 करोड़ 97 लाख रुपए का ऑनलाइन भुगतान किया गया। सीएम हाउस में आज हुए एक कार्यक्रम में सीएम भूपेश बघेल ने यह रकम खातों में ट्रांसफर की। यह राशि 20 अक्टूबर से 5 नवंबर तक खरीदे गए गोबर के एवज में की गई थी। अब तक गोबर विक्रेताओं को 47 करोड़ 38 लाख रूपए का भुगतान किया जा चुका है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि योजना का लाभ ग्रामीणों, किसानों, पशुपालकों सहित समाज के गरीब तबके के लोगों को मिलने लगा है। गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट का उत्पादन और विक्रय भी शुरू हो चुका है। इससे अब महिला समूहों को भी लाभ मिल रहा है। उन्होंने वर्मी कम्पोस्ट सहित अन्य सामग्रियों के निर्माण के लिए महिला समूहों को प्रशिक्षित करने पर जोर दिया। कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि यह समाज के जरूरतमंद एवं गरीब लोगों को सीधा लाभ पहुंचाने वाली योजना है। उन्होंने गौठानों में आजीविका मूलक गतिविधियों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से जिलों में स्थित कृषि विज्ञान केन्द्र को 10-10 गौठानों से तथा एग्रीकल्चर, डेयरी एवं मत्स्य महाविद्यालयों को भी गौठानों से जोड़ने की बात कहीं। इससे पहले कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. एम गीता ने बताया कि राज्य में 5454 गौठान निर्मित है, जिसमें से 3677 गौठानों में गोबर की खरीदी की जा रही है। अब तक 23 लाख 68 हजार 900 क्विंटल गोबर क्रय किया गया है। इस अवसर पर वन मंत्री मोहम्मद अकबर, संसदीय सचिव शिशुपाल शोरी, कृषि सचिव अमृत कुमार खलखो, सीएम सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Gauthan will become employment center, CM gives 8.97 crore to 77 thousand cow dung vendors


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3n1ab6w

0 komentar