बगैर GPS वाले वाहनों से नहीं होगा धान का परिवहन, इस बार ट्रांसपोर्टर और राइस मिलर्स को नहीं मिलेगी छूट , November 22, 2020 at 06:01AM

छत्तीसगढ़ में इस बार राइस मिलर्स और ट्रांसपोर्टर को धान परिवहन के लिए वाहनों में GPS लगवाना पड़ेगा। जिन वाहनों में GPS नहीं होगा, उनसे धान का परिवहन नहीं किया जा सकेगा। हालांकि यह व्यवस्था पहले से लागू हैं। पिछली बार इसमें छूट दी गई थी, लेकिन इस बार शासन इसको लेकर सख्त है। यह सारी कवायद धान की चोरी, गड़बड़ी और कालाबाजारी रोकने के लिए है।

राज्य सरकार किसानों को उनके धान का उचित मूल्य देने और सुविधाएं पहुंचाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है। इसी के तहत धान खरीदी के साथ परिवहन व्यवस्था को भी पारदर्शी बनाया गया है। छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ (MARKFED) की ओर से परिवहन के लिए उपयोग किए जाने वाले ट्रकों को GPS से लैस किया जाएगा। इससे खरीदी केंद्रों से राइस मिल तक वाहनों पर नजर रहेगी।

ट्रकों के निकलने, पहुंचने व बीच में रुकने की पूरी जानकारी होगी विभाग के पास
डीएमओ सुनील सिंह राजपूत ने बताया कि परिवहन के लिए रजिस्टर्ड GPS वाले ट्रकों की मानिटरिंग रायपुर से की जाएगी। इसके लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है। खरीदी केंद्रों से धान की लोडिंग होने के बाद ट्रकों के वहां से निकलने, संग्रहण केंद्र और राइस मिल पहुंचने के समय की पूरी ट्रेकिंग की जानकारी मिलती रहेगी। ट्रक में लोड धान की मात्रा सही है या नहीं इसका पूरा रिकार्ड विभाग रखेगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
छत्तीसगढ़ में इस बार राइस मिलर्स और ट्रांसपोर्टर को धान परिवहन के लिए वाहनों में GPS लगवाना पड़ेगा। जिन वाहनों में GPS नहीं होगा, उनसे धान का परिवहन नहीं किया जा सकेगा।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3nIkegR

0 komentar