रायपुर में शाम होते ही बाजार में उमड़ी भीड़, ट्रैफिक पुलिस ने जब्त की गाड़ियां, नगर निगम हटवाता रहा अवैध ठेले , November 02, 2020 at 05:42AM

रविवार की शाम रायपुर शहर में अत्यधिक भीड़ नजर आई। सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की अनदेखी की गई। पिछले कई महीनों से इस तरह का नजारा शहर में देखने को नहीं मिला था। मालवीय रोड, शास्त्री बाजार, गोल बाजार, बंजारी रोड, शारदा चौक और एवरग्रीन चौक पर गजब की भीड़ देखने को मिली। कोरोना संकट के इस दौर में यह रविवार अत्यधिक भीड़ वाला साबित हुआ। पिछले कुछ दिनों से रायपुर में एक साथ मिलने वाले कोरोना संक्रमितों की संख्या में कमी आई है। आने वाले त्योहारों की वजह से भी लोग बड़ी तादाद में बाजार में नजर आए।

एवरग्रीन चौक और मालवीय रोड को जोड़ने वाली सड़क पर नजारा।

भीड़ की स्थिति बेकाबू होती देख पुलिस और नगर निगम को आनन-फानन में व्यवस्था संभालने के लिए लगाया गया। नगर निगम का उड़न दस्ता अपनी टीम लेकर मालवीय रोड पहुंचा। माइक में अधिकारी अवैध ठेलों और फुटपाथ पर सजी दुकानों को हटाने की कार्रवाई करते दिखे। करीब 6 दुकानदारों के सामान जब्त कर लिए गए। ट्रैफिक पुलिस की एक टीम लगातार इस रोड पर नो पार्किंग में लगी बाइक को जब्त कर रही थी।

नगर निगम ने सड़क के किनारे बैठकर सामान बेच रहे दुकानदारों पर कार्रवाई की।


अब तक कोरोना से शहर में 579 मौतें
बीते 24 घंटे में कोरोनावायरस 1964 मरीज छत्तीसगढ़ में मिले हैं। 278 लोग डिस्चार्ज हुए हैं और 13 लोगों की मौत दर्ज की गई है। शनिवार रात तक जांजगीर, कोरबा, रायगढ़, मुंगेली और रायपुर की 50 ऐसी मौतों के बारे में पता चला जिनकी जानकारी पूर्व में विभाग ने जारी नहीं की। शनिवार की स्थिति में रायपुर में 138 कोरोनावायरस के मरीज मिले हैं। अब तक यहां 41365 लोग संक्रमित हो चुके हैं। रायपुर में 7493 एक्टिव मरीज हैं। शहर में 579 कोरोना संक्रमितों की मौत हो चुकी है।


विश्व स्वास्थ्य संगठन की चिंता
विश्व स्वास्थ्य संगठन के छत्तीसगढ़ के सब रिजनल टीम लीडर डॉ प्रणित कुमार के. फटाले ने कोरोना संक्रमण के संबंध में कहा कि यह अभी समाप्त नहीं हुआ है और अपने आप समाप्त होगा भी नही , हमें ही अपने तरीके बदलने होंगे तभी इससे निज़ात पा सकेंगे। उन्होंने कहा कि यूरोप में यह फिर से बढ़ने लगा ,अस्पताल भरने लगे और एक हजार प्रतिदिन से अधिक मृत्यु भी दर्ज होने लगी। यूरोप में यह महामारी शुरू होने के बाद से सबसे अधिक केस 7 लाख केस अभी बीते सप्ताह सामने आए। यह सब इसलिए हुआ क्योंकि विशेषज्ञों द्वारा सुझाए गए उपाय लोगों ने नहीं अपनाए।


सर्दियों में परेशानी ज्यादा
अंबेडकर अस्पताल के विशेषज्ञ चिकित्सक डॉ ओपी सुंदरानी का मानना है कि आगामी दिनों में ठंड और प्रदूषण के कारण वैसे भी सांस की शिकायतों वाले मरीजों को दिक्कत होती है। यदि इन लोगों को कोविड संक्रमण हो जाएगा तो वह अत्यंत घातक होगा। इसलिए अभी त्योहार के मौसम में भीड़ से बचने, सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और कम से कम ही बाहर आने में ही भलाई है। हाथों की सफाई जरूरी है। डॉ सुंदरानी ने युवाओं से विशेष अपील की है कि वे इस नाजुक समय में लापरवाह न बनें क्योंकि वे संक्रमित होंगे तो परिवार के बुजुर्गों एवं हाई रिस्क केटेगरी वाले व्यक्तियों को खतरा रहेगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फोटो रायपुर के मालवीय रोड की है। पिछले कई महीनों से यहां इस तरह की भीड़ नहीं देखी गई थी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3oLMi4t

0 komentar