छत्तीसगढ़ में दिवाली पर भी फीका है फूलों का बाजार, लेकिन स्थानीय फूल उत्पादकों को राहत , November 13, 2020 at 02:39PM

दीपोत्सव के पांच दिनों में करोड़ों का कारोबार करने वाले छत्तीसगढ़ के फूल बाजार दिवाली पर भी फीका महसूस कर रहे हैं। हालांकि बाजारों में वे सभी फूल उपलब्ध हैं, जिनकी दिवाली पर मांग रहती है लेकिन बाजारों में भीड़ कम है। महंगाई की वजह से ग्राहक कम मात्रा में फूल खरीद रहे हैं। रायपुर के फूल चौक पर बड़े फूल कारोबारी देवाशीष बताते हैं कि इस बार हावड़ा और नागपुर की मंडियों से ऊंचे दर पर फूल आये हैं। इसकी वजह से बाजार महंगा है। जो ग्राहक आ रहे हैं, वे महंगाई की वजह से सीमित मात्रा में फूल खरीद रहे हैं।

फूल कारोबारी कमल प्रमाणिक कहते हैं कि कोरोना की वजह से इस बार 15 प्रतिशत से अधिक ग्राहक टूटे हैं। जो पहुंच रहे हैं, उनको कम माल चाहिये। ऐसे में फूलों की बिक्री प्रभावित हुई है। प्रमाणिक बताते हैं कि उन लोगों ने पश्चिम बंगाल, हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक और महाराष्ट्र की मंडियों से फूल मंगाए हैं। स्थानीय फूल उत्पादकों से भी ताजी खेप पहुंची है।

स्थानीय फूल उत्पादक किसानों को राहत

बाजार फीका रहने के बावजूद स्थानीय फूल उत्पादक किसानों को दिवाली ने राहत दी है। दुर्ग जिले के कोहड़िया में फूलों के बड़े उत्पादक हेमंत यादव बताते हैं कि उन्होंने दिवाली के लिये आर्किड और जरवेरा की पहली खेप आज ही भेजी है। दिवाली की वजह से फूलों में महंगाई है। उनके यहां से ही एक जरवेरा 8 से 10 रुपए की दर में गया है। सामान्य दिनों में इसकी कीमत प्रति फूल केवल 2 रुपए हुआ करती है।

फूल कारोबारी देवाशीष को उम्मीद थी कि दिवाली में उनका कारोबार बहुत अच्छा होगा।

सबसे अधिक मांग गेंदा की

कमल प्रमाणिक बताते हैं कि प्रदेश में दिवाली पर सबसे अधिक मांग गेंदा के फूल की है। हम लोग गेंदा फूल 30 से 40 रुपए प्रति लड़ी की दर से बेच रहे हैं। इसके बाद गुलाब, जरवेरा और आर्किड आदि की मांग है। महासमुंद के फूल उत्पादक तुषार चंद्राकर बताते हैं कि प्रदेश में कल ही 9 से 10 ट्रक गेंदा फूल दूसरे प्रदेशों से पहुंचा है। सबसे अधिक गेंदा फूल हावड़ा से ही आता है। गुलाब का भी 10 से 12 टन माल आया है।

दिवाली पर होता था एक करोड़ का कारोबार

फूल कारोबारी कमल प्रमाणिक बताते हैं कि पिछली दिवाली पर पूरे छत्तीसगढ़ में फूलों का कारोबार एक करोड़ रुपए से अधिक का रहा था। इस बार की ग्राहकी को देखते हुए इसे 80-85 लाख रुपए तक ही पहुंचने की उम्मीद की जा रही है। तुषार चंद्राकर का अनुमान है कि इस बार पूरा कारोबार 50 लाख से 80 लाख रुपए के बीच रहेगा।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
राजधानी का फूल चौक त्यौहारों के दौरान अच्छा-खासा गुलजार रहता है। इस बार इस बाजार में ग्राहक कम हैं।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3krgGxy

0 komentar