घाट पर बुजुर्ग और बच्चों के प्रवेश पर रोक, मेला या सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होगा, कलेक्टर ने जारी किए निर्देश , November 17, 2020 at 08:50PM

रायपुर में इस बार छठ पूजा पर भी कोरोना का बड़ा असर पड़ रहा है। कलेक्टर की तरफ से जारी की गई गाइडलाइन छठ पूजा करने वालों को निराश कर सकती है। मगर कोविड खतरे की ध्यान में रखते हुए नियमों का पालन भी जरूरी है। निर्देश में कहा गया है कि छठ पूजा में किसी प्रकार के जुलूस, सभा, रैली या सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जा सकेगा।

राज्य शासन द्वारा दिए गए निर्देशानुसार छठ पूजा में सुबह 6 बजे से सुबह 8 बजे तक ही ग्रीन पटाखे फोड़े जा सकेंगे। पूजा स्थलों में किसी प्रकार के बाजार, मेला, दुकान इत्यादि लगाने की अनुमति नहीं होगी। छठ पूजा स्थलों में लाउडस्पीकरों के उपयोग की अनुमति नही होगी। पूजा स्थलों में छोटे बच्चों एवं बुजुर्ग को जाने की अनुमति नही होगी। नदी, तालाब के गहरे पानी में जा कर पूजा करने की अनुमति नहीं होगी।

आयोजकों ने कहा घर पर ही करें पूजा
छठ महापर्व आयोजन समिति हर साल महादेव घाट रायपुर में सामूहिक छठ पूजा का आयोजन करती आ रही है। मगर इस बार लोगों से घर पर ही पूजा करने को कहा गया है। छठ महापर्व आयोजन समिति के अध्यक्ष राजेश सिंह ने बताया कि चार दिवसीय छठ महापर्व गुरुवार नवंबर 18 को नहाय खाय के साथ प्रारंभ होगा। जो कि 21 नवंबर तक होगा। समिति इस साल छठ पूजा पर सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं भंडारे आयोजन नहीं करेगी।

महादेव घाट एवं रायपुर जिले के तालाबों के किनारे जो भी व्रती पूजा करेंगे वो अपनी स्वंय की जवाबदारी पर करेंगे। समिति के सदस्य रविन्द्र सिंह, विपिन सिंह, सुनील सिंह, रामकुमार सिंह और जयंत सिंह ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस लेकर यह जानकारी दी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फोटो रायपुर कलेक्टर की है, अधिकारियों के साथ बैठक के बाद उन्होंने छठ पूजा को लेकर गाइडलाइन जारी की।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3f4AjKU

0 komentar