कर्ज से परेशान किसान ने फंदा लगाकर जान दी; महिला वकील और युवक भी फंदे से लटके , November 19, 2020 at 10:47PM

छत्तीसगढ़ के भिलाई में 24 घंटे के दौरान एक किसान और महिला वकील सहित 3 लोगों ने फंदा लगाकर जान दे दी। बोरी क्षेत्र में किसान का शव उसी के गांव में बबूल के पेड़ से लटका मिला। बताया जा रहा है कि किसान कर्ज से परेशान था। वहीं स्मृति नगर में महिला वकील और कुम्हारी क्षेत्र में युवक का शव घरों में लटकता मिला। दोनों के आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है।

परिजन बोले- कर्ज से परेशान था किसान, पुलिस बोली- जांच कर रहे
जानकारी के मुताबिक, डोमा गांव निवासी प्रेमलाल (33) पिता धनीराम गुरुवार सुबह खेत जाने के लिए निकला था। करीब 6.30 बजे उसका शव बबूल के पेड़ से लटका देख ग्रामीणों ने परिजनों को सूचना दी। पिता धनीराम में बताया कि प्रेमलाल ने बैंक से घर बनाने के लिए 50 हजार और खाद के लिए करीब 15 हजार किसान क्रेडिट कार्ड से लोन लिया था। यह भी पता चला है की बेटे पर करीब 3 लाख का कर्जा था।

परिजनों को आशंका और ज्यादा हो सकता है कर्ज
परिजनों का कहना है कि संभवत: कर्ज से परेशान होकर बेटे ने खुदकुशी की है। उन्होंने बताया कि प्रेमलाल 6 साल से अपनी पत्नी रामेश्वरी और दोनो बेटियों के साथ अलग रह रहा था। 7 महीने पहले उसके घर मे तीसरी बेटी का जन्म हुआ है। बहू की हालत ठीक नही है, उससे पूछताछ के बाद बेटे के अन्य कर्ज की जानकारी पता चल पाएगी। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है।

घर में ही फंदे से लटकता मिला महिला वकील का शव
वहीं दूसरी ओर स्मृति नगर क्षेत्र के साईं नगर कातुल बोड निवासी महिला वकील माया गुप्ता (70) ने गुरुवार रात करीब 9 बजे घर मे फांसी लगा ली। पड़ोसी जब वकील से मिलने गए तो घटना का पता चला। वकील घर पर अकेले ही रहती थी। इसी तरह कुम्हारी के हीरापुर क्षेत्र में बुधवार देर रात रजक साहू (45) का शव घर में लटका मिला। दोनो ही मामलो में आत्महत्या का कारण पता नही चल पाया है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
छत्तीसगढ़ के भिलाई में 24 घंटे के दौरान 3 लोगों ने फंदा लगाकर जान दे दी। कर्ज से परेशान एक किसान ने खुदकुशी की। वहीं एक महिला वकील और एक युवक ने भी आत्महत्या कर ली।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/330y4TV

0 komentar