रेल लाइन का विस्तार होता तो लोगों को खराब सड़कों से मिलता छुटकारा , November 29, 2020 at 05:24AM

जिले में सड़कों की हालत बेहद खराब रहने के बाद लोग अब रेल लाइन विस्तार की एक बार फिर मांग उठाने लगे हैं। लोगो का मानना है कि कई दशक से जिले के लिए रेल लाइन की मांग की गई। लेकिन आज तक भाजपा व कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में जिले को रेल लाइन की सुविधा नहीं मिल पाई।
लोग अब सड़कों की हालत से बेहद परेशान है। जिसके कारण लोगों के मन में अब एक बार फिर रेल लाइन का मुद्दा गर्माने लगा है। पिछले दो दशक से जिले के कई नेताओं ने लोहरदगा-कोरबा रेल लाइन की मांग की, जो कई जिलों को जोड़ सकती है।

इस लाइन के विस्तार से झारखंड, छत्तीसगढ़ के कई जिले रेल लाइन की सुविधा पा सकते है। लेकिन जिलेवासियों का इसे दुर्भाग्य ही कहा जा सकता है कि जब केन्द्र में कांग्रेस की सरकार थी तो जिले में भाजपा के कद्दावर नेताओं ने रेल लाइन की मांग उठाई और जब केन्द्र मे भाजपा की सरकार बनी तो अब कुछ कांग्रेसी लोहरदगा-कोरबा रेल लाइन के विस्तार की मांग कर रहे हैं। दरअसल केन्द्र में कांग्रेस की लंबे समय तक सत्ता रही।

सांसद गोमती ने लोकसभा में उठाई थी मांग

सांसद गोमती साय ने भी संसद सत्र में लोहरदगा-कोरबा रेल लाइन की मांग उठाकर जिलेवासियों की इस बहुप्रतिक्षित मांग को जल्द से जल्द पूरा करने की मांग की थी। उनके अलावा समय-समय पर कांग्रेस के भी कई नेताओं ने कोरबा-लोहरदगा रेल लाइन के विस्तार की मांग की। सांसद गोमती साय ने कहा कि आवागमन की असुविधा को देखते हुए समय-समय पर रेल लाइन की मांग केंद्र में उठाया गया है। पत्र व्यवहार कर ध्यानाकर्षण कराया जा चुका है। आने वाले समय पर भी मांगे मुखर होकर सरकार के सामने रखूंगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3leYI1H

0 komentar