गौठान ऑनलाइन बेचेंगे वर्मी कम्पोस्ट , November 29, 2020 at 05:36AM

जिले के हर ब्लाक में दो गौठान अगले 15 दिनों में ऑनलाइन जैविक खाद बेचकर गोधन न्याय योजना का खर्च उठाएंगे। खाद को बेचने के लिए ई साइट्स व पड़ोसी राज्यों के राज्यों के बाजार का सहारा लिया जाएगा। शुक्रवार को कलेक्टर भीम सिंह ने बताया कि गोधन न्याय योजना के संचालन के लिए गौठानों को स्वावलंबी बनाया जाएगा। इसके लिए सभी जनपद सीईओ अगले 15 दिनों में हर विकासखंड में 2 गौठान इस स्थिति में ला देंगे कि वहां तैयार वर्मी कम्पोस्ट काे बेचकर गोधन न्याय योजना का संचालन वे खुद से कर सकें।

इसके लिए वर्मी कम्पोस्ट के उपयोग के वैज्ञानिक तरीकों का किसानों के बीच प्रचार-प्रसार के साथ ही बाजार विस्तार करने के लिए पड़ोसी राज्यों में भी संभावनाएं तलाशने व ई-कॉमर्स साइट्स के माध्यम से ऑनलाइन बिक्री का सप्लाई चेन विकसित करने के लिए कहा। कलेक्टर सिंह ने मनरेगा के तहत स्वीकृत कार्यों को भी जल्द शुरू करवाने के निर्देश सभी सीईओ जनपदों को देते हुए कहा कि इससे श्रमिकों को नियमित रूप से काम मिलता रहेगा।

केरल के विशेषज्ञ अब महिलाओं को देंगे ट्रेनिंग

जिले में ग्रामीण महिला उद्यमिता को सशक्त बनाने तथा उन्हें प्रशिक्षित करने के लिये केरल से विशेषज्ञ बुलाने की प्लानिंग की है, जो यहाँ कार्यरत महिला स्व-सहायता समूह की महिलाओं को अपना काम स्थापित कर उससे कमाई के तरीकों की ट्रेनिंग देंगे। इस ट्रेनिंग की व्यवस्था जिला पंचायत सीईओ ऋचा प्रकाश चौधरी करेंगी।

रेशम एक्सपोर्ट हब के रूप में तैयार हो रहा जिला

रेशम विभाग के अधिकारी ने बताया कि धरमजयगढ़ वन मंडल में रेशम कीट पालन के उद्देश्य से प्लांटेशन के लिए 500 हेक्टेयर भूमि का चिह्नांकन कर लिया गया है। वन विभाग और उद्यानिकी विभाग को नर्सरी बनाकर पौधे तैयार करने के निर्देश कलेक्टर सिंह ने दिए। पौधों की सुरक्षा के लिए फेंसिंग का एस्टीमेट तैयार कर पेश करने के लिए भी कहा।

वन-धन केन्द्रों से भी मिलेगा रोजगार

कलेक्टर ने बताया कि जवा फूल धान की खेती को बढ़ावा देने तथा उसकी मार्केटिंग के लिए गठित एफपीओ को 15.15 लाख रुपए दिए जा रहे हैं। इसके साथ ही मिलिंग के लिये किसानों को मिनी राइस मिल उपलब्ध करवाने के निर्देश उप संचालक कृषि को दिए ताकि किसान खुद से ही इसकी मिलिंग कर सीधे चावल बेचकर ज्यादा मुनाफा कमाए।

सब्जी सप्लाई के लिए किए जाएंगे कॉर्पोरेट टाइअप

कलेक्टर ने घरघोड़ा के नर्सरी में लगने वाले मुनगा प्रोसेसिंग प्लांट के प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने प्लांट निर्माण और विभाग तथा किसानों द्वारा किए जाने वाला मुनगा प्लांटेशन का काम साथ-साथ करने के लिए कहा जिससे प्लांट तैयार होते ही रॉ-मटेरियल भी उपलब्ध हो और किसान भी अपनी उपज बेच लाभ कमा सकें। स्व-सहायता समूह द्वारा उगाई जाने वाली सब्जियों के खपत के लिये मार्केट तैयार करने प्लांट व उद्योगों जहां मेस संचालित हैं व जिनकी आवासीय कॉलोनियां हैं उनके साथ ही बड़े खरीददारों से टाईअप करने के निर्देश दिए।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/36fP3Ud

0 komentar