बेटी ने जहर नहीं पीया, उसे उठा ले गए थे दबंग , November 30, 2020 at 05:34AM

टहंकापारा की युवती की खुदकुशी के मामले में रविवार को एक नया मोड़ आ गया। कांकेर थाना पहुंच मृतका के पिता ने कहा कि उसकी बेटी ने जहर नहीं पी है बल्कि उसकी मौत प्रताडऩा से हुई है। पिता का आरोप है कि उसकी दोनों बेटियों को गांव के दंबगों ने आधी रात घर से उठा ले गए थे। जंगल में उसके साथ मारपीट की गई। जिसके बाद से उसकी तबीयत बिगड़ गई और इलाज के दौरान मौत हो गई।

जबकि पुलिस ने जहर खाकर खुदकुशी करना बताया था। युवती के पोस्ट मार्टम की रिपोर्ट नहीं आई है जिसका पुलिस भी इंतजार कर रही है। चारामा के टंहकापारा की युवती वंदना विश्वकर्मा 19 वर्ष पिता प्रद्युमन की 22 नवंबर को जिला अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। कांकेर पुलिस ने इस मामले में शून्य में मर्ग कायम किया है। जिसमें युवती द्वारा जहर खाने से मौत होना बताया गया है। घटना के बाद से परिवार में मातम है।

इस मामले को लेकर पिता व उसके परिवार के लोग 29 नवंबर को कांकेर थाना पहुंचे। पिता ने जहर पीने की बात को केवल संदेह बताते हुए मामले में चौकाने वाला खुलासा किया। पिता ने बताया कि 16 नवंबर की रात 12 बजे टंहकापारी निवासी युवक राधे निषाद व उसके अन्य 8 साथी उसके घर पहुंचे। जहां से वंदना विश्वकर्मा व उसकी छोटी बहन को जबरन उठा कर ले गए। गांव के बाहर ले जाकर वहां बैठक किए। जहां युवती पर बेबुनियाद आरोप लगा उसके साथ मारपीट की गई।

इसके बाद दोनों बहनों को घर लाकर छोड़ दिया गया। इसकी प्रत्यक्षदर्शी व पीडि़ता स्वयं उसकी छोटी बेटी है। पिता के अनुसार इस घटना से उसकी पुत्री को गहरा आघात पहुंचा था। जिससे वह सदमें में थी और उसकी तबीयत बिगडऩे लगी। इसके बाद 21 नवंबर को अचानक वह बेहोश होकर गिर गई तो उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां उसकी मौत हो गई। पिता व परिजन ने मामले में बारीकी से जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

पोस्ट मार्टम रिपोर्ट का कर रहे इंतजार

एसआई राजेश राठौर ने बताया कि मामला चारामा इलाके का है। कांकेर थाना में शून्य में दर्ज किया गया है। पुलिस को अब तक पोस्ट मार्टम रिपोर्ट नहीं मिली है। पुलिस भी रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
कांकेर। युवती के घर में मातम मनाते परिवार के लोग।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3fOMdJ7

0 komentar