शिवनाथ तट पर पुण्य स्नान और गुरुद्वारों में आज होगा कीर्तन , November 30, 2020 at 06:21AM

कार्तिक पूर्णिमा का पर्व आज रोहिणी नक्षत्र में स्नान-दान के साथ मनाया जाएगा। सुबह पूर्णिमा तिथि के रोहणी नक्षत्र में होने से पर्व का महत्व और भी बढ़ गया है। पू्र्णिमा तिथि रविवार दोपहर 12:45 बजे से शुरू हो चुकी है, जो सोमवार दोपहर 2.59 बजे तक रहेगी। लेकिन उदया तिथि के कारण पर्व सोमवार को ही मनाया जाएगा। इस दिन देव दीपावली और गुरुनानक देवजी का प्रकाश पर्व भी है। कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए गुरुद्वारों में सुबह 7 से 11 बजे के कार्यक्रम होंगे।

शिवनाथ तट पर मेले का आयोजन नहीं, लोगों ने एक दिन पहले ही रास्ते में सजा ली दुकानें

कार्तिक पूर्णिमा पर सोमवार को शहर के शिवनाथ नदी तट पर सुबह से स्नान, दान के लिए भक्त पहुंचेंगे। हालांकि यहां हर साल की तरह मेले का आयोजन इस बार कोरोना संक्रमण को देखते हुए नहीं किया जा रहा है। प्राचीन शिव मंदिर समिति द्वारा मेले का आयोजन इस बार नहीं किए जाने की सूचना प्रशासन को दी जा चुकी है।

नगर निगम द्वारा भी नदी तट पर साफ-सफाई का कार्य नहीं किया गया है। बावजूद इसके नदी जाने वाले रास्ते पर लोगों द्वारा दुकानें लगाने की तैयारी की जा चुकी है। निगम प्रशासन का कहना है कि निगम केवल शिवरात्रि पर मेला कराता है। पूर्णिमा पर नहीं।

आज स्थल परिवर्तन करते जैन समाज के साधु, संत

रविवार को चातुर्मास का अंतिम दिन था। चौमासी चौदस के दिन पक्खी प्रतिक्रमण कर संसार के सभी जीवों से क्षमा याचना की गई। सोमवार को आनंद मधुकर रतन भवन बांधा तालाब दुर्ग में चातुर्मास काल में सेवा देने वाले सदस्यों का श्रमण संघ परिवार द्वारा स्वागत अभिनंदन किया जाएगा। स्वास्थ्य गत कारणों से छत्तीसगढ़ प्रवर्तक संत रतन मुनि महाराज, उनके साथ उप प्रवर्तक डॉ. सतीश मुनि, शुक्ल मुनि, रमण मुनि, आदित्य मुनि भी आनंद मधुकर रतन भवन में विराजमान रहेंगे।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
गुरुनानक देवजी के 551वें प्रकाश पर्व पर स्टेशन रोड, दुर्ग समेत दुर्ग-भिलाई के सभी गुरुद्वारों को आकर्षक रौशनी से सजाया गया है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2KUWcS1

0 komentar