इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स ने बनाई इलेक्ट्रिक बाइक, एक बार चार्ज करने पर चलेगी 100 किलोमीटर , December 16, 2020 at 06:12AM

सेजबहार स्थित श्री शंकराचार्य इंस्टीट्यूट ऑफ प्राेफेशनल मैनेजमेंट एंड टेक्नाेलाॅजी (एसएसआईपीएमटी) के चार स्टूडेंट्स ने मिलकर इलेक्ट्रिक बाइक बनाई है। तीन साल की मेहनत से तैयार की गई बाइक का नाम हमर रखा गया है। पुरानी बाइक के पार्ट्स इस्तेमाल कर तैयार की गई ये बाइक एक बार चार्ज करने पर 250 किलोग्राम वजन के साथ 45 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से 100 किलाेमीटर तक का सफर तय कर सकती है। इसे एक बार चार्ज करने में सात रुपए की बिजली खपत हाेती है।

बाइक में हैं 4 गियर, कॉस्ट 60 हजार
संस्थान के मैकेनिकल डिपार्टमेंट के फाइनल ईयर के स्टूडेंट सागर साहू, जसप्रीत सिंह, कुणाल उरकुड़े और भुवेश साहू ने मिलकर यह बाइक बनाई है। चाराें स्टूडेंट ने मिलकर स्टार्टअप ईवीरेक्स ऑटोमोटिव शुरू किया है। सागर साहू ने बताया कि इलेक्ट्रिक बाइक नाॅन गियर और गियर दाेनाें सेगमेंट में आती है। हमने इस बाइक में 4 गियर रखे हैं। इस क्षमता की बाइक की शुरुआती कीमत वर्तमान में लगभग 1 लाख 25 हजार रुपए है। उन्हाेंने दावा किया कि बड़े स्तर पर उत्पादन करें ताे बाइक की लागत 60 हजार रुपए आएगी। उन्होंने बताया कि यह बाइक नाॅइस फ्री और पाॅल्यूशन फ्री है। उनकी टीम बाइक को 75 किमी प्रति घंटे की स्पीड तक लाने और ज्यादा आरामदायक बनाने की दिशा में अभी भी काम कर रही है।

संस्थान और टेक्निकल यूनिवर्सिटी ने किया फाइनेंशियल सपाेर्ट
एसएसआईपीएमटी के चेयरमैन निशांत त्रिपाठी ने बताया कि हमने स्टूडेंट्स काे पढ़ाई के साथ इनाेवेशन का टास्क दिया है। स्टूडेंट्स पिछले तीन साल से विभागाध्यक्ष प्रो. अतुल चक्रवर्ती और प्राचार्य डाॅ. आलोक कुमार जैन की गाइडेंस में इलेक्ट्रिक बाइक बनाने की दिशा में रिसर्च कर रहे थे। संस्थान के अलावा छत्तीसगढ़ स्वामी विवेकानंद टेक्निकल यूनिवर्सिटी यानी सीएसवीटीयू ने भी इस प्राेजेक्ट में आर्थिक सहयाेग किया है। सीएसवीटीयू ने सवा लाख रुपए की फंडिंग की थी।

2018 में की शुरुआत, जून 2019 में पहली बार किया ऑन राेड टेस्ट
सागर साहू ने बताया कि इंजीनियरिंग के पहले साल हमने इलेक्ट्रिक कार और बाइक बनाने का सिद्धांत पढ़ा था। हम इलेक्ट्रिक कार बनाना चाहते थे, लेकिन फंड और रिसाेर्सेज की कमी थी। लिहाजा ये तय किया कि शुरुआत बाइक बनाने से करेंगे। 2018 में सेकंड ईयर के पहले वीकेंड में ही काम शुरू कर दिया था। पुरानी बाइक बॉक्सर सीटी 100 के पार्ट्स, मोटर, बैटरी सहित जरूरी चींजें लीं। सबसे पहली बार जून 2019 में इस बाइक का राेड पर टेस्ट किया था।

तीन माेटर बदलने और 5 बार फेल होने के बाद मिली सक्सेस
सागर साहू ने बताया, तीन माेटर बदलने और पांच बार फेलियर के बाद बाइक बनाने में सक्सेस हुए हैं। परफाॅर्मेंस टेस्ट के लिए बाइक 400 किलाेमीटर चला चुके हैं। जाे माेटर हमने सबसे पहली बार यूज की थी उसमें स्पीड 55 किलाेमीटर प्रतिघंटे की मिली, लेकिन बाइक स्मूथली नहीं चल रही थी। दूसरी माेटर से स्पीड 55 की मिली, गाड़ी स्मूथ चल भी रही थी लेकिन स्पीड आगे नहीं बढ़ रही थी। जो तीसरी मोटर फिलहाल यूज कर रहे हैं उसकी स्पीड 45 सेट की है, जिसे 60 से ऊपर भी बढ़ा सकते हैं। इसे फुल चार्ज करने में 1.74 यूनिट बिजली खर्च होती है, जिसकी लागत लगभग 7 रुपए आती है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Engineering students built electric bikes, will run 100 kilometers on one charge


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3oZIGLB

0 komentar