योजना समिति के चुनाव में कांग्रेस के 12 तो भाजपा के 4 प्रतिनिधि बने , December 25, 2020 at 05:16AM

जिला योजना समिति के चुनाव के अंतर्गत स्व.लखीराम अग्रवाल ऑडिटाेरियम में गुरुवार को मतदान व मतगणना हुई। इसमें 16 में 12 सदस्य कांग्रेस के बने तो 4 सदस्य भाजपा के जीते। नगर निगम के तीन में दो कांग्रेस एक भाजपा, जिला पंचायत में 11 में से 9 कांग्रेस, 2 भाजपा के सदस्य चुनकर जिला योजना समिति में पहुंचे। लेकिन नगर पालिका प्रतिनिधि के चुनाव में भाजपा क्रॉस वोटिंग के बावजूद किस्मत से जीत गई। नगर निगम के तीन प्रतिनिधि और जिला पंचायत के 11 प्रतिनिधियों के लिए कांग्रेस और भाजपा के बीच निर्विरोध चुनाव को लेकर पहले ही सहमति बन गई थी। निगम से कांग्रेस पार्षद विष्णु यादव व श्याम पटेल तो भाजपा पार्षद दुर्गा सोनी सदस्य बने। जिला पंचायत प्रतिनिधि के तौर पर कांग्रेस की ओर से जानकी सर्राटी, गोदावरी बाई, शुभम पेंद्रो, राजेश्वर भार्गव, जितेंद्र पांडेय, स्मृति श्रीवास, पुष्वेश्वरी तंवर, आनंद सिंह मरावी तो भाजपा से घनश्याम कौशिक और चांदनी भारद्वाज के जीतने की घोषणा की गई। नगर पालिका में 15-15 वोट दोनों पार्टियों को मिले जिसमें भाजपा के पार्षद ने कांग्रेस प्रत्याशी को वोट दिया। टाई होने पर लाटरी निकाली गई और भाजपा के पार्षद ईश्वर देवांगन जीते और रतनपुर नगर पालिका पार्षद रामगोपाल कहरा को हार मिली। नगर पंचायत के प्रतिनिधि के तौर पर बोदरी नगर पंचायत के पार्षद देवी सिंह और गौरेला नगर पंचायत पार्षद संजीव जायसवाल के बीच मुकाबला था। 90 पार्षद में से 9 आए नहीं। 6 मत रिजेक्ट हुए जबकि कांग्रेस प्रत्याशी देवी सिंह को 44 मत मिले और भाजपा पार्षद संदीप जायसवाल को 31 वोट मिले।

नपा में टाई, लाटरी में कांग्रेस की हार
रतनपुर व तखतपुर दोनों नगर पालिका के सभी 30 पार्षदों ने मतदान किया। पहले कांग्रेस के पास मात्र 14 पार्षद थे। बावजूद इसके परिणाम बराबरी में सामने आया। भाजपा के किसी पार्षद ने क्रास वोटिंग कर कांग्रेस के पक्ष में मतदान किया। नतीजा ये हुआ कि भाजपा के ईश्वर व कांग्रेस के रामगोपाल कहरा को 15-15 वोट मिले। लाटरी निकाली गई जिसमें कांग्रेस प्रत्याशी रामगोपाल हारे और भाजपा पार्षद ईश्वर देवांगन दूसरी बार सदस्य बने।

न मानदेय न कोई सुविधा पर क्रेज है
योजना समिति में प्रभारी मंत्री अध्यक्ष, कलेक्टर पदेन सचिव होते हैं। विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष और अन्य जनप्रतिनिधि मेंबर होते हैं। समिति का मेंबर होने पर क्रेज तो रहता है हालांकि मानदेय या अन्य सुविधाएं नहीं मिलती। पिछले चुनाव में कांग्रेस चुनाव लड़ी थी और जिला पंचायत के प्रतिनिधि के तौर पर जितेंद्र पांडेय और रमेश कौशिक जीते थे। बहुमत भाजपा का ही था।

हम हारे पर एक वोट ज्यादा मिले
नगर पालिका में हमारे पास केवल 14 सदस्य थे। भाजपा से दो वोट मिलने की उम्मीद थी। लेकिन एक मिला। टाई के बाद फैसला भाजपा के पक्ष में गया। उम्मीद है कि भाजपा के प्रतिनिधि जिला योजना समिति में जिले के विकास में मदद करेंगे। समिति में कांग्रेस का बहुमत है।
विजय केशरवानी, अध्यक्ष जिला कांग्रेस कमेटी



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/37MRrD1

0 komentar