ब्रिटेन से रायपुर आई 2 महिलाएं पॉजिटिव मिलीं, छत्तीसगढ़ में ऐसे प्रवासी मरीजों की संख्या 6 हुई , December 30, 2020 at 06:59AM

छत्तीसगढ़ में कोरोना के नए स्ट्रेन का खतरा बना हुआ है। पिछले दिनों ब्रिटेन से रायपुर आईं दो महिलाएं कोरोना पॉजिटिव पाई गई हैं। स्वास्थ्य विभाग ने शनिवार और रविवार को उनके नमूने लिए थे। इन दो महिलाओं को मिलाकर प्रदेश में ब्रिटेन से आने वाले पॉजिटिव लोगों की संख्या 6 हो गई है।

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक 9 दिसम्बर के बाद ब्रिटेन से 65 लोग छत्तीसगढ़ में आए हैं। उनमें से 53 लोगों की कोरोना जांच की गई है। उनमें से 6 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इनमें से दो रायपुर से हैं। संक्रमित व्यक्तियों में दुर्ग-भिलाई के 2 और बिलासपुर व जांजगीर-चांपा के 1-1 व्यक्ति शामिल हैं।

अधिकारियों ने बताया, ब्रिटेन से आए व्यक्तियों के सभी नमूनों की जांच रायपुर एम्स में हुई है। प्रदेश की प्रयोगशालाओं में वायरस के म्यूटेशन की जांच की क्षमता नहीं है। ऐसे में यहां ब्रिटेन में फैले कोविड-19 के नए स्ट्रेन की पहचान संभव नहीं है। ऐसे में पॉजिटिव पाए गए नमूनों को पुणे स्थित नेशनल वायरोलॉजी लेबोरेट्री भेजा गया है। उम्मीद जताई जा रही है कि गुरुवार को जांच की रिपोर्ट मिल जाएगी।

बताया जा रहा है, अगर वहां नए स्ट्रेन की पहचान हो गई तो उसके प्रोटोकॉल के मुताबिक रोकथाम की व्यवस्था की जाएगी। फिलहाल ब्रिटेन से आए पॉजिटिव लोगों को रायपुर एम्स के एक विशेष वार्ड में भर्ती कराया गया है। पॉजिटिव पाए गए लोगों के कॉन्ट्रेक्ट ट्रेसिंग का भी काम जारी है।

एम्स में 330 बिस्तर की व्यवस्था

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया, विदेशों से आए व्यक्तियों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर उन्हें अलग रखने की व्यवस्था कर ली गई है। रायपुर एम्स में 330 बिस्तरों की अलग से व्यवस्था की जा रही है।कोरोना के इस नए स्ट्रेन के फैलने की क्षमता पहले से 60 प्रतिशत ज्यादा है। लेकिन, अभी कोई चिंता की बात नहीं है। उन्होंने ब्रिटेन के पड़ोसी देशों से लौटे यात्रियों की सुरक्षा भी उपलब्ध कराने की मांग उठाई है।

दूसरे प्रदेश चला गया एक प्रवासी गायब

स्वास्थ्य विभाग की ओर से बताया गया, जो 14 लोग ब्रिटेन से आने के बाद दूसरे प्रदेशों में चले गए थे, उनमें से 13 से संपर्क स्थापित हो गया है। उन्हें जहां हैं वहीं कोरोना जांच कराने को कहा गया है। एक व्यक्ति को प्रशासन ट्रेस नहीं कर पाया है।

ब्रिटेन से ही आया था प्रदेश का पहला कोरोना केस

छत्तीसगढ़ में कोरोना का पहला केस मार्च 2020 में आया था। यह ब्रिटेन में पढ़ाई कर रही एक युवती थी। उसने खुद एम्स जाकर जांच कराई थी। करीब दो सप्ताह के इलाज के बाद वह ठीक होकर लौटी।

राहत: अब कम हो रहे हैं मरीज

स्वास्थ्य विभाग से देर रात जारी आंकड़ों के मुताबिक मंगलवार को 1134 नये काेराेना संक्रमित पाए गए हैं। वहीं काेरोना की वजह से 14 लोगों की मौत हुई है। सोमवार को 1188 संक्रमित मिले थे। वहीं 20 मौतें रिकॉर्ड हुई थीं। इनको मिलाकर प्रदेश में अब तक कोरोना से हुई मौतों का आंकड़ा 3 हजार 336 हो गया है।

अभी भी 12472 सक्रिय मरीज

मार्च 2020 से मंगलवार रात 8 बजे तक 2 लाख 77 हजार 471 लोग कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें से 2 लाख 61 हजार 663 लोग बीमारी को मात देकर अस्पतालों और होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज हो चुके हैं। अभी 12 हजार 472 लोगों को इलाज जारी है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
छत्तीसगढ़ में कोरोना का पहला केस मार्च 2020 में आया था।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/38Ho4kA

0 komentar