लेपर्ड और हिरण की खाल के साथ 3 गिरफ्तार, महासमुंद स्थित सेंचुरी में तीर-धनुष से करते थे वन्यजीवों का शिकार , December 12, 2020 at 04:14PM

छत्तीसगढ़ की महासमुंद पुलिस ने शनिवार को वन्य जीवों का शिकार कर उनकी खाल को बेचने वाले तस्करों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों के पास से लेपर्ड और हिरण की खाल बरामद हुई है। इसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत 30 लाख रुपए से ज्यादा बताई जा रही। आरोपियों में रिजर्व फॉरेस्ट का चौकीदार भी शामिल है। यह लोग वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में तीर-धनुष से शिकार करते थे।

जानकारी के मुताबिक, पुलिस अफसरों को रिजर्व फॉरेस्ट एरिया में वन्य जीवों का शिकार कर उनकी खाल को बेचने की सूचना मिल रही थी। इस पर साइबर सेल और अलग-अलग थानों की पुलिस की संयुक्त टीम का गठन किया गया। इस बीच टीम को सूचना मिली कि कुछ लोगों ने जंगल क्षेत्र में लेपर्ड और हिरण का शिकार किया है। अब उसकी खाल बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहे हैं।

तस्करों के पास ग्राहक बनकर पहुंचे पुलिसकर्मी
इसके बाद पुलिस टीम ने ग्राहक बनकर उनसे संपर्क किया। अभी पुलिस उन्हें पकड़ने की योजना बना रही थी कि तभी पता चला कि कुछ लोग ग्राम बरनाईदादर झगरनडीह चौक के पास तेंदुए और हिरण की खाल का सौदा करने वाले हैं। सूचना के बाद साइबर सेल और सांकरा थाना पुलिस ने घेराबंदी कर बलौदाबाजार निवासी शेख शहाबुद्दीन, बलिराम बरिहा और जोहन बरिहा को धर दबोचा।

एक माह पहले बारनवापारा सेंचुरी क्षेत्र में किया था शिकार
तलाशी के दौरान आरोपियों के पास से दो बोरे में एक तेंदुए ओर एक हिरण की खाल बरामद हुई। कड़ाई से पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि एक माह पहले बारनवापारा सेंचुरी क्षेत्र में तीर-धनुष से तेंदुए का शिकार किया था। तेंदुए की खाल की कीमत इंटरनेशनल मार्केट में 25 लाख और हिरण की 5 लाख रुपए बताई जा रही है। आरोपियों से तीर-धनुष, मोबाइल और कैश भी बरामद हुआ है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
छत्तीसगढ़ के महासमुंद में तेंदुए और हिरण की खाल के साथ तीन तस्करों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों में रिजर्व फॉरेस्ट का एक गार्ड भी शामिल है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3qPy6ID

0 komentar