मैनपाट में तापमान 3.4 डिग्री पर, पाले से मैदान में बिछी सफेद परत , December 27, 2020 at 05:46AM

यह तस्वीर छत्तीसगढ़ के शिमला कहे जाने वाले सरगुजा जिले के मैनपाट की है। कड़ाके की ठंड से यहां का तापमान जमाव बिंदु पर पहुंच रहा है। इससे यहां ओस की बूंदें जमने लगी है और मैदान व पौधों की पत्तियां के ऊपर बर्फ परत जम जा रही है। शुक्रवार-शनिवार की रात यहां का न्यूनतम तापमान 3.4 डिग्री के दर्ज किया गया जो इस सीजन का सबसे न्यूनतम तापमान है।

दिन का अधिकतम तापमान 19 डिग्री के आस-पास रहा। सामान्य से नीचे तापमान जाने से यहां का जनजीवन प्रभावित हो गया है। शाम होते ही चारों तरफ सन्नाटा पसर जा रहा है। लोग जरूरी काम से ही बाहर निकल रहे हैं।

समुद्र से 1125 मीटर की ऊंचाई पर है स्थित: मैनपाट पहाड़ी इलाका है। समुद्र तल से इसकी ऊंचाई 1125 मीटर है। इससे यहां सामान्य दिनों में मैदानी इलाकों की तुलना में तापमान कम रहता है। विशेषज्ञों के अनुसार सामान्य दिनों में 165 मीटर की ऊंचाई पर तापमान में 1 डिग्री की गिरावट दर्ज की जाती है।

अंबिकापुर में 24 घंटे के भीतर 2 डिग्री गिरा तापमान

उत्तर से आ रही शुष्क हवाओं से कड़ाके की ठंड पड़ रही है। बीते 24 घंटे में न्यूनतम तापमान में 2 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई है। शनिवार को अंबिकापुर का न्यूनतम तापमान 7.8 डिग्री और अधिकतम तापमान 21.4 डिग्री रहा है।

शुष्क हवाओं से तापमान में और गिरावट की संभावना
मौसम विज्ञान केंद्र अंबिकापुर के मेट्रोलॉजिस्ट एएम भट्ठा ने बताया कि उत्तर भारत से शुष्क हवा आ रही है और विक्षोभ से दो तीन दिनों के भीतर उत्तर में बर्फबारी क संभावना है। इससे शीतलहर चलेगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
घास व पौधों के ऊपरी जमी पाले की परत


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3nTAoED

0 komentar