35 की एज लिमिट में फंसे भाजपा के 100 से ज्यादा युवा, छूट के लिए तगड़ी कवायद , December 23, 2020 at 07:15AM

भाजपा युवा मोर्चा के 100 से ज्यादा युवा नेता 35 वर्ष की एज लिमिट में फंस गए हैं। केंद्रीय नेतृत्व ने युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष के लिए 35 साल की उम्र सीमा का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए थे, लेकिन जिले और प्रदेश की टीम में जो युवा मौका पाना चाहते हैं, उनके लिए अब तक स्पष्ट गाइडलाइन नहीं आई है। उम्र सीमा में सख्ती से बड़ी संख्या में कार्यकर्ता सक्रिय पदों से बाहर हो जाएंगे।
राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष इस बार संगठन में नियुक्तियों के लिए जो मापदंड बनाए गए हैं, उसे लेकर काफी सख्त हैं। बेंगलुरु से 28 साल के सांसद तेजस्वी सूर्या को युवा मोर्चा का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया। वहीं कई बड़े नामों को पीछे छोड़ते हुए अमित साहू छत्तीसगढ़ के अध्यक्ष बनाए गए। हालांकि विपक्ष में होने की वजह से कई नेताओं का तर्क है कि पिछली कार्यकारिणी में सक्रिय युवाओं को इस बार भी मौका मिलना चाहिए, जिससे उनके अनुभवों का लाभ मिल सके। दावेदारों की ओर से इस संबंध में प्रमुख नेताओं तक संदेश भी पहुंचाया गया है। प्रदेश अध्यक्ष साहू का कहना है कि
संगठन से उन्हें उम्र के साथ-साथ क्षेत्र व जातिगत समीकरण के आधार पर सूची तैयार करने कहा गया है। इसके बाद वरिष्ठ नेताओं के निर्देश पर सूची को अंतिम रूप दिया जाएगा। प्रदेश अध्यक्ष व संगठन महामंत्री की सहमति के बाद प्रदेश व जिले की सूची जारी कर दी जाएगी।

संगठन के नेताओं पर दोनों ओर से बढ़ा दबाव
35 वर्ष की उम्र सीमा का पालन करने या छूट देने, दोनों ही मुद्दों पर संगठन के नेताओं पर दबाव है। जो दावेदार हैं, वे छूट पाने के लिए बड़े स्तर पर कोशिश कर रहे हैं। इसके विपरीत ऐसे भी कार्यकर्ता हैं, जो चाहते हैं कि हर हाल में उम्र सीमा का पालन होना चाहिए। ऐसा इसलिए भी क्योंकि 35 साल से ज्यादा के सभी कार्यकर्ताओं को एडजस्ट नहीं किया जा सकता, इसलिए वे चाहते हैं कि 35 की उम्र सीमा के दायरे में ही रहकर नियुक्तियां की जाएं।

सभी मोर्चा अब तक नहीं कर पाए नियुक्तियां
युवा मोर्चा ही नहीं, बल्कि बाकी 6 मोर्चा भी अब तक अपनी कार्यकारिणी की घोषणा नहीं कर पाए हैं। सभी को 20 दिसंबर तक नियुक्तियां करने के लिए कहा गया था। प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी और सह प्रभारी नितिन नवीन इस महीने के बजाय अब जनवरी के पहले हफ्ते में आएंगे, इसलिए चर्चा है कि उनके आने के पहले तक सारी नियुक्तियां कर ली जाएंगी। इसके अलावा जिलों के प्रभारी और प्रकोष्ठ के लिए भी प्रदेश से लेकर जिले व मंडल तक टीम बनाने की कवायद चल रही है।

रायपुर में 35 पार दो, कम के आधा दर्जन दावेदार
रायपुर जिले में भाजपा जिलाध्यक्ष के लिए 35 साल की उम्र सीमा से अधिक के दो और कम के आधा दर्जन से ज्यादा दावेदार हैं। 35 पार वालों में अमित मैसेरी और तुषार चोपड़ा का नाम है। जिले के महामंत्री और सक्रियता की वजह से अमित की स्वाभाविक दावेदारी है। इसके विपरीत उम्र सीमा में जिन दावेदारों के नाम आ रहे हैं, उनमें प्रखर मिश्रा, गोविंदा गुप्ता, अर्पित सूर्यवंशी और सजल श्रीवास्तव प्रमुख हैं। कुछ और भी कार्यकर्ता कोशिश कर रहे हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
More than 100 youth of BJP trapped in age limit of 35, strong exercise for exemption


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/38xlj58

0 komentar