बस्तर को मिलेगी सीआरपीएफ की 5 नई बटालियन, नए कैंप खुलेंगे , December 26, 2020 at 05:23AM

सीआरपीएफ की पांच नई बटालियन जल्द ही बस्तर पहुंच जाएंगी। इसके लिए पुलिस मुख्यालय ने तैयारी शुरू कर दी है। नई बटालियन के लिए नए कैम्प शुरू किए जाएंगे। इसके लिए इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने का काम शुरू कर दिया गया है। राज्य शासन ने पांच करोड़ रुपए मंजूर किए हैं। इसमें जवानों की सुरक्षा के साथ मूलभूत सुविधाएं तैयार की जाएंगी।
नक्सलियों के खिलाफ चल रही लड़ाई को निर्णायक स्थिति तक पहुंचाने के लिए राज्य सरकार की ओर से लगातार सीआरपीएफ की नई बटालियन की मांग की जा रही थी। राज्य ने पहले 9 बटालियन की मांग की थी, जिसमें कुछ दिन पहले ही पांच बटालियन के लिए हरी झंडी मिल गई है। इसके साथ ही केंद्र सरकार के वरिष्ठ सुरक्षा सलाहकार के. विजय कुमार दो बार बस्तर का दौरा करने के साथ ही सीएम भूपेश बघेल से मिल चुके हैं। इसके अलावा डीजीपी डीएम अवस्थी व एंटी नक्सल ऑपरेशन के स्पेशल डीजी अशोक जुनेजा के साथ भी बैठक हो चुकी है। इसमें नए कैंप कहां खाेले जाएंगे, उसकी जगह तय कर दी गई है।

इसके आधार पर ही कैंप के लिए बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने के लिए बड़े स्तर पर कवायद शुरू कर दी गई है। केंद्र सरकार से बातचीत के बाद सीएम बघेल ने अनुपूरक बजट में पांच करोड़ रुपए रखे हैं। बता दें कि नक्सलियों द्वारा नए कैंप खुलने की कवायद के बाद ग्रामीणों को आगे कर आंदोलन खड़ा करने की कोशिश की गई। इसके लिए भी स्थानीय लोगों को पुलिस की ओर से समझाइश दी गई है। कई ऐसे भी हिस्से हैं, जहां ग्रामीण कैंप खोलने की भी मांग कर रहे हैं, जिससे उन्हें बेहतर सुविधाएं मिल सकें।

नक्सलियों को पीछे की ओर खदेड़ने की रणनीति
छत्तीसगढ़ पुलिस और केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बल द्वारा लगातार चलाए जा रहे ऑपरेशन से नक्सलियों का क्षेत्र सिमटता जा रहा है। सुकमा और बीजापुर में ही नक्सली समय-समय पर घटनाएं करने में कामयाब हो जाते हैं। ओडिशा, तेलंगाना और महाराष्ट्र से जुड़े होने के कारण पुलिस का दबाव बढ़ने पर दूसरे राज्य चले जाते हैं। नई बटालियन के कैंपों के लिए ऐसे क्षेत्र का चयन किया गया है, जहां से नक्सलियों को पीछे की ओर खदेड़ा जा सके और उनके कॉरिडोर को खत्म किया जा सके।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फाइल फोटो।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3nRl8Iq

0 komentar