9 माह से अपनी मर्जी से राशन लेने की योजना बंद , December 20, 2020 at 05:33AM

कोरोना वायरस के चलते कोर पीडीएस पिछले नौ माह से बंद कर दिया गया है। राशनकार्डधारी अपने ही शासकीय उचित मूल्य दुकान में राशन ले पा रहे हैं। जबकि कोर पीडीएस में यह सुविधा थी कि वे अपनी मर्जी की दुकान में जाकर राशन ले सकते थे। बता दें कि कोरोना वायरस न फैले इसके लिए सभी शासकीय उचित मूल्य दुकानों में बाॅयोमैट्रिक्स की जगह फोटो खींचकर राशन दिया जा रहा था। अनलॉक होने के बाद फोटो खींचने की बजाय बाॅयोमैट्रिक्स से राशन दिया जा रहा है लेकिन कोर पीडीएस शुरू नहीं किया गया है।
बिलासपुर शहरी क्षेत्र में 147 तो ग्रामीण क्षेत्र में 497 शासकीय उचित मूल्य दुकान हैं। बता दें कि कोर पीडीएस योजना शहरी क्षेत्र के लिए शुरू की गई। कोर पीडीएस-मेरी मर्जी योजना सरकारी दुकानों में जुलाई 2017 से शुरू हुई। यह योजना छत्तीसगढ़ की 23 शासकीय उचित मूल्य दुकानों में लागू की गई। इसके बाद इसे इसे रायपुर,भिलाई, बिलासुपर, दुर्ग जैसे शहरों के सभी शहरी क्षेत्र के राशन दुकानों में लागू किया गया। इस योजना का मूल उद्देश्य ये था कि राशनकार्डधारी अपने शहर के किसी भी दुकान से राशन ले सकेगा। दरअसल कार्डधारी अक्सर अपने राशन दुकान संचालक की शिकायत करते थे कि उनके द्वारा राशन लेने जाने पर गलत व्यवहार किया जाता है। ऐसे में यह योजना शुरू की गई। इसके तहत सभी कार्डधारियों का कार्ड से आधार लिंक होना जरूरी था, इसलिए आधार लिंक कराया गया। इसके बाद राशन दुकान संचालकों को एंड्रायड टेबलेट खरीदने कहा गया। बताया गया कि यदि राशन दुकान संचालक 75 फीसदी राशन बेच चुका है तो वह फिर से राशन का उठाव कर सकता है। इसके लिए बकायदा ट्रेनिंग भी दिया गया। इस ट्रेनिंग में पावर पाइंट प्रेजेन्टेशन के माध्यम से दुकान संचालकों को एप्लीकेशन क्या है, यह कैसे काम करेगा, आधार प्रमाणीकरण कैसे करें, प्रमाणीकरण के समय किन बातों का ध्यान रखें, सफलता कैसे मिले आदि को लेकर प्रशिक्षण दिया गया। यह योजना ठीक तरह चल रही थी लेकिन मार्च के अंतिम सप्ताह में कोरोना संक्रमण फैलने के बाद इसे बंद करते हुए उन्हें दुकानों से राशन लेने कहा गया, जहां राशनकार्ड धारी रहते हैं। राशनकार्डधारी सरस्वती तिवारी ने बताया कि जब कोरोना में बंद की गई सभी चीजें चालू हो गई है तो फिर कोर पीडीएस योजना को भी लागू कर दिया जाना चाहिए। कितना अच्छा था कि शहरी क्षेत्रों के राशन दुकानों में कार्डधारियों के लिए यह सुविधा थी कि वे अपनी इच्छा के मुताबिक किसी भी दुकान से राशन ले सकते थे लेकिन नौ माह से इसे बंद कर दिया गया है। तेलीपारा में रहने वाले राधेश्याम कश्यप का कहना है कि इस योजना को तत्काल शुरू कर देना चाहिए क्योंकि बाकी चीजें तो चालू ही हो गई है। जब सिनेमाघर खोले जा सकते हैं तो फिर राशन दुकान में कोर पीडीएस योजना क्यों शुरू नहीं की जा सकती।

आदेश आने पर शुरू कराएंगे
"अभी पूरे राज्य में योजना बंद है। इसे कब चालू किया जाएगा, इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी नहीं किया गया है। हमें भी आदेश का इंतजार है। आदेश आने पर कोर पीडीएस चालू किया जाएगा।"
-हिजकिएल मसीह, खाद्य नियंत्रक



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/38lQal7

0 komentar