प्रदेश प्रभारी ने पहली ही बैठक में नेताओं से पूछा- बताओ दो माह में क्या किया? , December 08, 2020 at 05:36AM

भाजपा की प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी ने पहली ही बैठक में सभी प्रदेश पदाधिकारियों से दो महीने में किए कार्यों का ब्योरा मांगा है। पदाधिकारियों को मंगलवार तक ब्योरा देना है। इतना ही नहीं, जिन जिलों में अब तक कार्यकारिणी नहीं बनी उन्हें 15 दिसंबर और सभी 7 मोर्चों की कार्यकारिणी बनाने के लिए 20 दिसंबर तक की समय-सीमा तय की है।
छत्तीसगढ़ प्रभारी बनने के बाद पहले दौरे में आईं डी. पुरंदेश्वरी और सह प्रभारी नितिन नवीन ने सोमवार को कुशाभाऊ ठाकरे परिसर पहुंचने के बाद सबसे पहले प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय और संगठन महामंत्री पवन साय के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने संगठनात्मक विषयों की जानकारी ली। इसके बाद पहली बैठक प्रदेश पदाधिकारियों की हुई, फिर जिलाध्यक्षों व प्रदेश पदाधिकारियों की अलग बैठक हुई। सभी पदाधिकारियों का परिचय लेने के बाद उन्होंने हिंदी और अंग्रेजी दोनों में ही संबोधित किया। उन्होंने टीम वर्क के साथ सभी पदाधिकारियों को काम करने के लिए कहा। प्रदेश पदाधिकारियों से पूछा गया कि उनकी नियुक्ति को कितने दिन हो गए हैं। उन्हें जानकारी दी गई कि 28 सितंबर को कार्यकारिणी का गठन किया गया था। इसके बाद पुरंदेश्वरी ने कहा कि वे इन दो महीनों में क्या-क्या किया है, उसकी जानकारी दें। पदाधिकारियों से सोमवार या मंगलवार तक यह जानकारी देने कहा गया है।

जनवरी में तीन दिन के लिए आएंगे नड्‌डा, इससे पहले 16 बिंदुओं में करनी है तैयारी
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगतप्रकाश नड्डा जनवरी में तीन दिन के लिए छत्तीसगढ़ दौरे पर आएंगे। इस दौरान वे कार्यकर्ताओं से सीधे बातचीत करेंगे। भाजपा कोर ग्रुप ने इसकी तैयारियों के संबंध में 16 बिंदू तय किए हैं। इसके लिए प्रभारी भी तय किए जाएंगे। नए सिरे से कोर ग्रुप का गठन करने की प्रक्रिया चल रही है। नई प्रदेश प्रभारी डी. पुरंदेश्वरी और सह प्रभारी नितिन नवीन की मौजूदगी में कोर ग्रुप की पहली बैठक हुई। इसमें प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह, राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री सौदान सिंह, संगठन महामंत्री पवन साय, नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक सहित अन्य सदस्य शामिल हुए। कोर ग्रुप में मुख्य रूप से 1000 दिनों के प्लान के अलावा राष्ट्रीय अध्यक्ष के दौरे पर मुख्य रूप से चर्चा हुई। नड्डा दो रातें और तीन दिन यहां गुजारेंगे। उनके दौरे के संबंध में बिंदुओं पर चर्चा की गई। इसमें सांसद-विधायकों की भूमिका, आर्थिक समिति, भविष्य की व्यूह रचना आदि शामिल है। करीब ढाई घंटे बैठक चली जिसमें इन बिंदुओं पर बातचीत हुई। इसे पूरा करने के लिए जिम्मेदारियां तय की जाएंगी। संभवत: प्रभारी की मौजूदगी में ही नाम तय कर लिए जाएंगे। बैठक में रामप्रताप सिंह, राज्यसभा सांसद सरोज पांडेय, रामविचार नेताम, बृजमोहन अग्रवाल, पुन्नूलाल मोहले, विक्रम उसेंडी आदि भी मौजूद थे।

एयरपोर्ट से ठाकरे परिसर तक हुआ भव्य स्वागत
पहली बार छत्तीसगढ़ दौरे पर आई प्रदेश प्रभारी पुरंदेश्वरी और सह प्रभारी नितिन का एयरपोर्ट से लेकर कुशाभाऊ ठाकरे परिसर तक भव्य स्वागत हुआ। एयरपोर्ट में नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, सांसद सुनील सोनी, पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, अजय चंद्राकर, राजेश मूणत, जिलाध्यक्ष श्रीचंद सुंदरानी सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता पहुंचे थे। 100 महिलाएं केसरिया साड़ी में पहुंची थीं। 51 महिलाओं ने शंखनाद कर प्रभारियों का स्वागत किया। युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने बाइक रैली के साथ काफिले की अगवानी की।

बैठक में जाने की अनुमति नहीं, नंदकुमार नाराज
वरिष्ठ आदिवासी नेता नंदकुमार साय को बैठक में जाने की अनुमति नहीं दी गई। इससे वे नाराज होकर चले गए। जाते-जाते उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा की सरकार बनाने के लिए उन्होंने डंडे भी खाए थे और जिनके कारण हार हुई, उन्हें बैठक में बुलाया गया है। दूसरी ओर नाराज खेमे के कुछ नेताओं की देर रात तक अलग बैठक की सूचना है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
बैठक से पहले दीप प्रज्जवलित करती डी. पुरंदेश्वरी, नितिन नवीन व अन्य नेता।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2JD2CVA

0 komentar