छत्तीसगढ़ के राजस्व मंत्री ने बिल्हा के तहसीलदार को सस्पेंड किया; जमीन नामांतरण मामलों की होगी जांच , December 10, 2020 at 05:46AM

छत्तीसगढ़ के राजस्व मंत्री जय सिंह अग्रवाल ने बुधवार को बिल्हा के तहसीलदार सत्यपाल राय को सस्पेंड कर दिया है। तहसीलदार राय के ऊपर पेंड्राडीह स्थित सरकारी जमीन को व्यापारियों व अन्य लोगों के नाम करने का आरोप है। इस मामले में नेता प्रतिपक्ष और बिल्हा विधायक धरमलाल कौशिक ने कलेक्टर को चिट्ठी लिखकर दो दिन पहले शिकायत की थी।

राजस्व मंत्री जय सिंह अग्रवाल ने बताया कि 26 एकड़ सरकारी जमीन को तहसीलदार ने कुछ व्यापारी और अन्य लोगों के नाम कर दिया था। इस जमीन का नामांतरण कर मुआवजा भी ले लिया गया। दैनिक भास्कर ने 8 दिसंबर को 'बिल्हा विधायक ने कलेक्टर को लिखा पत्र, तहसीलदार ने करोड़ों की सरकारी जमीन निजी लोगों के नाम की' खबर प्रमुखता से प्रकाशित की थी ।

करोड़ों रुपए का भ्रष्टाचार भी किया गया
मंत्री अग्रवाल ने बताया कि जिस जमीन को खुर्द-बुर्द किया गया, उस पर से नेशनल हाईवे गुजरता है। इस संबंध में मंगलवार शाम को ही बिलासपुर कलेक्टर और SDM से चर्चा की थी। इसके बाद कार्यवाही की गई है। प्रथम दृष्टया सामने आया कि उसमें करोड़ों का भ्रष्टाचार भी किया गया है। इसकी जांच के आदेश दिए गए हैं। वहीं उन्होंने आशंका जताई कि प्रदेश में अन्य जगह भी इस तरह के मामले हो सकते हैं।

नेता प्रतिपक्ष ने उठाए थे सवाल, लिखा था-90 साल से ग्रामीण कर रहे उपयोग
विधायक धरमलाल कौशिक ने कलेक्टर को लिखा था, पेंड्रीडीह में शासकीय भूमि के रूप में दर्ज खसरा नंबर 249, 219, 278, 556 का नामांतरण तहसीलदार सत्यपाल राय ने किसी दूसरे व्यक्ति के नाम पर कर दिया है। उनके मुताबिक यह जमीन निस्तार की है, जिसका 90 सालों से ग्रामीण इस्तेमाल करते आ रहे हैं। इसलिए राजस्व अधिकारियों द्वारा ऐसा करना गलत है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
छत्तीसगढ़ के बिल्हा तहसीलदार को राजस्व मंत्री ने सस्पेंड कर दिया है। आरोप है कि उन्होंने सरकारी जमीन व्यापारियों और अन्य लोगों नाम हस्तांतरित कर दी।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/37KVf6t

0 komentar