रविवि की वार्षिक परीक्षा में डेढ़ माह की देरी, मार्च नहीं अप्रैल से एग्जाम , December 14, 2020 at 05:37AM

कोरोना संक्रमण भले ही कुछ कम हो जाए लेकिन इसका शिक्षा पर असर अगले साल भी रहेगा। रविवि की वार्षिक परीक्षा अगले साल मार्च में नहीं होगी। अप्रैल-मई में परीक्षा का आयोजन होगा। कोरोना संक्रमण की वजह से न सिर्फ रविवि बल्कि दूसरे राजकीय विश्वविद्यालय जैसे दुर्ग, बिलासपुर, बस्तर, सरगुजा का शेड्यूल भी बिगड़ा है। इनकी परीक्षाएं भी अप्रैल व मई में होगी।
शिक्षाविदों का कहना है कोरोना की वजह से इस बार उच्च शिक्षा का सत्र देर से शुरू हुआ। जून-जुलाई की जगह इस बार 2 नवंबर से पढ़ाई शुरू हुई है। वह भी ऑनलाइन। ऑफलाइन कक्षाएं अभी शुरू नहीं हुई है। इस संबंध में जल्द निर्णय होगा। पढ़ाई शुरू होने में देरी की वजह से अगले साल मार्च में परीक्षा का आयोजन मुश्किल है। क्योंकि, तीन-चार महीने की पढ़ाई के बाद परीक्षा का आयोजन संभव नहीं है। शिक्षाविदों का कहना है कि उच्च शिक्षा भी एनुअल एग्जाम का आयोजन 10 अप्रैल के बाद और 30 मई के पहले चाहता है। इसके लिए विश्वविद्यालयाें को सूचना भेजी जा चुकी है। इसे ध्यान में रखते हुए कक्षाओं का आयोजन किया जा रहा है। पिछली बार रविवि की वार्षिक परीक्षा 3 मार्च से शुरू हुई। इस बार अप्रैल के तीसरे या चौथे सप्ताह से परीक्षा शुरू हो सकती है। गौरतलब है कि रविवि समेत अन्य राजकीय विवि की वार्षिक परीक्षा में पिछली बार करीब पांच लाख परीक्षार्थी थे।

परीक्षा का आयोजन इस बार केंद्र में होगा
कोरोना संक्रमण की वजह से रविवि की वार्षिक परीक्षा इस बार दो तरह से आयोजित की गई। कुछ विषयों की परीक्षा का आयोजन केंद्र में हुआ। जबकि कुछ विषयों की परीक्षा छात्रों ने घर बैठे दी। लेकिन रविवि की आगामी वार्षिक परीक्षा पूरी तरह से केंद्र में ही आयोजित की जाएगी। अफसरों का कहना है कि अगले साल तक कोरोना को लेकर स्थिति सामान्य हो सकती है। इसलिए आगामी परीक्षा का आयोजन केंद्र में होगा। विवि से फरवरी-मार्च में सेमेस्टर परीक्षा होगी। इसकी परीक्षाएं भी असाइनमेंट या ऑनलाइन नहीं होगी। इसके लिए भी छात्रों को केंद्र में आकर एग्जाम देना होगा।

वार्षिक परीक्षा के लिए आवेदन फरवरी में, इसमें भी एक महीने की होगी देरी
रविवि की वार्षिक परीक्षा में हर साल बड़ी संख्या में छात्र शामिल होते हैं। इसमें नियमित के साथ ही प्राइवेट से परीक्षा देने वाले छात्रों की संख्या भी अधिक रहती है। पिछली बार करीब डेढ़ लाख परीक्षार्थी थे। आमतौर पर वार्षिक परीक्षा के लिए आवेदन की प्रक्रिया दिसंबर के आखिरी सप्ताह या फिर जनवरी के पहले सप्ताह से शुरू हो जाती है। लेकिन इस बार एनुअल एग्जाम के लिए आवेदन की प्रक्रिया फरवरी में शुरू होगी।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Delay of one and a half months in Ravi's annual examination, exam from April not March


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3akW20X

0 komentar