नियमित किए जाने की मांग के साथ रायपुर में विद्यामितानों का पदर्शन, पुलिस के साथ हुई धक्का-मुक्की , December 16, 2020 at 05:11PM

रायपुर के बूढ़ापारा स्थित धरना स्थल से बुधवार की दोपहर विद्यामितानों (अनियमित शिक्षक) का जत्था सीएम आवास घेरने के लिए निकला। नियमितिकरण के नारे लगाते हुए शिक्षक आगे बढ़ने लगे। धरना स्थल के पास ही स्मार्ट सिटी ऑफिस की सड़क पर पुलिस ने पहले से ही बैरीकेडिंग कर रखी थी। यहां शाम के वक्त सभी को रोक दिया गया। काफी देर तक हंगामा होता रहा, जिसके बाद विद्यामितान वापस धरना स्थल लौट आए।


नहीं दिया किसी को ज्ञापन
विद्यामितानों के संगठन के प्रमुख धर्मेंद्र वैष्णव ने बताया कि उनके इस प्रदर्शन को किसान संघ ,शिक्षा कर्मी संघ ,प्रेरक संघ, बाल श्रमिक संघ, अनियमित कर्मचारी संघ, अधिकारी कर्मचारी फेडरेशन, ने समर्थन दिया था। बड़ी तादाद में विद्यामितान भी प्रदर्शन करने जुटे थे। सभी अभी करो अर्जेंट करो हमको पर्मानेंट करो का नारा लगाकर विरोध जताया। प्रदर्शनकारियों ने किसी अधिकारी को ज्ञापन नहीं सौंपा उनकी जिद है कि अब बात सीधे मुख्यमंत्री से ही करेंगे।


महिलाओं को दिया धक्का
विद्यामितानों के इस प्रदर्शन में महिलाएं भी शामिल थीं। रैली में यह आगे की तरफ चल रही थीं। जैसे ही पुलिस ने इन्हें रोका तो धक्का मुक्की शुरू हो गई। पुरुष पुलिसकर्मियों ने महिलाओं को धक्का दे दिया। कुछ महिला पुलिसकर्मियों ने भी महिलाओं को खदेड़ा। इस दौरान एक महिला प्रदर्शनकारी बेसुध हो गई। जिसे साथियों ने संभाला ।

बड़े आंदोलन की तैयारी
पिछले 51 दिनों से विद्यामितानों का यह धरना प्रदर्शन रायपुर में जारी है। विद्यामितान प्रदेश के ग्रामीण इलाकों के स्कूलों में पढ़ाने वाले एक अनियमित शिक्षक हैं। जिन्हें कुछ समय पहले बेरोजगार कर दिया गया। कोरोना की वजह से स्कूल बंद होने की वजह से अब इन्हें रोजगार नहीं मिल रहा । कांग्रेस पार्टी चुनाव के वक्त इन्हें नियमित करने की बात कह चुकी है। उसी चुनावी वादे को पूरा करवाने की जिद पर विद्यामितान अड़े हुए हैं और अब 20 या 21 दिसंबर को विधानसभा के घेराव की तैयारी भी कर रहे हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
तस्वीर रायपुर की है। पिछले 51 दिनों से छत्तीसगढ़ के विद्यामितान प्रदर्शन कर रहे हैं। इनकी मांगों पर अब तक सरकार ने ध्यान नहीं दिया।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3oURP84

0 komentar