विपक्ष ने संग्रहण केंद्रों में हजारों करोड़ का धान सड़ने का आरोप लगाया, विधानसभा समिति से जांच की मांग नहीं मानी तो किया वाकआउट , December 23, 2020 at 12:44PM

छत्तीसगढ़ विधानसभा के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन प्रश्नकाल में ही हंगामा हो गया। भाजपा विधायकों ने आरोप लगाया कि सरकार की लापरवाही से एक से डेढ़ हजार करोड़ रुपए से अधिक मूल्य का धान सड़ चुका है। खाद्य मंत्री ने इस नुकसान से इन्कार किया। विपक्ष ने विधानसभा की समिति से जांच कराने की मांग की। मांग नहीं माने जाने पर नाराज विपक्ष ने वॉकआउट किया।

भाजपा विधायक रजनीश सिंह ने प्रश्नकाल में यह मामला उठाया। उनके प्रश्न के जवाब में खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने कहा, खरीदी केंद्रों में कोई धान नहीं बचा है। पिछले महीने तक संग्रहण केंद्रों में 4 लाख 5 हजार मीट्रिक टन धान बचा हुआ था। उसको भी लगातार कस्टम मिलिंग के लिए भेजा जा रहा है। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा, वे खुद देखकर आए हैं, अधिकारियों से बात की है। संग्रहण केंद्रों में रखा धान सड़ चुका है। उन्होंने विधानसभा की समिति बनाकर मामले की जांच कराने की मांग की।

जवाब में खाद्य मंत्री ने कहा- कस्टम मिलिंग लगातार जारी है

जवाब में खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने कहा, कस्टम मिलिंग लगातार जारी है। जब तक यह प्रक्रिया पूरी नहीं कर ली जाती, नुकसान की जानकारी नहीं दिया जा सकता। खाद्य मंत्री ने कहा, बरसात को नहीं रोका जा सकता। यह 15 साल तक सत्ता में रही पिछली सरकार की गलती है। उन्होंने इसकी चिंता की होती तो यह स्थिति नहीं बनती। उन्होंने कहा, उनकी सरकार अब धान को मौसम से बचाने के लिए सभी केंद्रों में चबूतरा और शेड का निर्माण करा रही है।

इसके बाद भाजपा विधायक अजय चंद्राकर, बृजमोहन अग्रवाल आदि ने सरकार से तीखे सवाल पूछे। इसको लेकर सदन में हंगामे की स्थिति बन गई। विपक्ष ने विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज सिंह मंडावी से हस्तक्षेप का आग्रह किया। विधानसभा उपाध्यक्ष ने कहा, इस मामले में पर्याप्त सवाल हो चुके हैं। अब दूसरे सवाल लिए जाएं। इस जवाब पर भड़के विपक्ष ने हंगामा किया और सदन से वॉकआउट किया।

मानव तस्करी पर भी घिरी सरकार

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मानव तस्करी पर सूचना मांगी थी। जवाब में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू की ओर से कहा गया, मानव तस्करी का कोई मामला दर्ज नहीं हुआ है। भड़के पूर्व मुख्यमंत्री ने कवर्धा में हाल ही में दर्ज हुई मानव तस्करी की घटना का ब्यौरा दिया। उन्होंने कहा, इस मामले में लड़की को वेल्लौर ले जाया गया था। बाद में मंत्री ने जानकारी लेकर विवरण देने की बात कही।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
छत्तीसगढ़ विधानसभा का शीतकालीन सत्र 21 दिसम्बर से शुरू हुआ है।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3rmKtw9

0 komentar