दो साल में छग को मिले दो दर्जन से ज्यादा पुरस्कार, एक जनवरी को पीएम मोदी करेंगे पुरस्कृत , December 28, 2020 at 05:18AM

भूपेश सरकार ने अपने दो साल के कार्यकाल में दो दर्जन से ज्यादा राष्ट्रीय पुरस्कार हासिल किए हैं। अब एक जनवरी को पीएम नरेंद्र मोदी गरीबों को मकान देने वाले मोर जमीन मोर मकान योजना को पुरस्कृत करेंगे। सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि सरकार ने दो साल जनहित से जुड़ी योजनाओं पर फोकस किया। इसका परिणाम है कि राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार मिला है। उन्होंने सभी मंत्री और अधिकारी-कर्मचारियों को बधाई दी है। पीएम आवास योजना (शहरी) के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के समावेशी मॉडल मोर जमीन मोर मकान के बेहतर क्रियान्वयन की पीएम मोदी ने सराहना की है। साथ ही डोंगरगढ़ को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली नगर पालिकाओं की श्रेणी में पुरस्कृत करने की भी घोषणा की है।

इससे पूर्व नदी-नालों के पुनरुद्धार के लिए बिलासपुर और जल-संरक्षण के लिए सूरजपुर को नेशनल वाटर अवार्ड 2019 के लिए किया चयनित किया गया था।
स्वच्छ सर्वेक्षण 2020 के तहत बड़े राज्यों को पछाड़ते हुए स्वच्छतम राज्य का दर्जा प्राप्त कर पुरस्कार हासिल किया था।

इसी तरह सर्वाधिक ओडीएफ प्लस गांव के लिए छत्तीसगढ़ को केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय के गंदगीमुक्त भारत अभियान के तहत दूसरा पुरस्कार प्राप्त हो चुका है। छत्तीसगढ़ सरकार की महत्वाकांक्षी सुराजी गांव योजना और अन्य फ्लैगशिप योजनाओं की मॉनिटरिंग के लिए तैयार की गई मुख्यमंत्री दर्पण वेबसाइट और मोबाइल एप को राष्ट्रीय स्तर पर एलिट्स एक्सीलेंस अवार्ड्स-2020 से नवाजा जा चुका है। छत्तीसगढ़ को यह सम्मान देश के प्रतिष्ठित आईटी संस्थान एलिट्स टेक्नोमीडिया, नई दिल्ली ने डिजिटल इंडिया पहल के अंतर्गत प्रदान किया है। पंचायतों के सशक्तिकरण और विभागीय योजनाओं को लागू करने में सूचना व संचार तकनीक के प्रभावी उपयोग के लिए छत्तीसगढ़ का चयन केंद्रीय पंचायतीराज मंत्रालय ने ई-पंचायत पुरस्कार के लिए किया था।

पंचायतों के कार्यों में पारदर्शिता, दक्षता और जवाबदेही लाने के लिए आईसीटी के उपयोग में छत्तीसगढ़ को पूरे देश में दूसरा स्थान प्राप्त हुआ है।

तीन गांवों को भी उत्कृष्ट कार्यों के लिए पुरस्कार
शहरी ही नहीं, बल्कि ग्रामीण स्तर पर भी सरकार में कई बेहतर काम हो रहे हैं। इसी कड़ी में पंचायतीराज मंत्रालय ने छत्तीसगढ़ की तीन ग्राम पंचायतों को अलग-अलग क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्यों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए चुना है। बच्चों से जुड़ी योजनाओं और कार्यक्रमों के बेहतरीन क्रियान्वयन के लिए कबीरधाम के कान्हाभैरा ग्राम पंचायत का चयन बाल मित्र पंचायत पुरस्कार के लिए किया गया। ग्रामसभा के प्रभावी आयोजन और इसके सशक्तिकरण के लिए रायपुर के बनचरोदा पंचायत को नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्रामसभा पुरस्कार से नवाजा गया। वहीं कांकेर के भिलाई पंचायत को केन्द्रीय पंचायतीराज मंत्रालय द्वारा ग्राम पंचायत विकास योजना पुरस्कार के लिए चुना गया था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3plOT4u

0 komentar