प्लान बनाने एक्सपर्ट कंसलटेंट चाहिए डीजीसीए ने तीन को रिजेक्ट किया , December 29, 2020 at 05:20AM

बिलासपुर एयरपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग का नए सिरे से प्लान तैयार करने कंसलटेंट नियुक्ति का मामला उलझता जा रहा है। राज्य शासन द्वारा राशि स्वीकृत किए जाने के बाद पीडब्ल्यूडी ने बिल्डिंग का प्रपोजल बनाने कंसलटेंट नियुक्त करने तीन बार टेंडर किया जिसे कैंसिल कर दिया गया है।

अब पुन: नए सिरे से टेंडर करने की तैयारी चल रही है। बिलासपुर एयरपोर्ट की वर्तमान टर्मिनल बिल्डिंग को बड़ा करने और उसमें आवश्यक बदलाव एवं नई बिल्डिंग बनाने के लिए राज्य शासन ने 670 लाख रुपए की मंजूरी दी है। टर्मिनल बिल्डिंग में काम शुरू करने से पहले उसका नए सिरे से प्लान तैयार किया जाना है।

इसके लिए पहले कंसलटेंट की नियुक्ति की जानी है। पीडब्ल्यूडी ने तीन बार इसके लिए टेंडर किया था। जब कंसलटेंट कंपनियों के बारे में एयरपोर्ट एथॉरिटी ऑफ इंडिया को जानकारी भेजी । इन कंपनियों के पास एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग का प्लान तैयार करने अनुभव की कमी थी। टेंडर स्वीकृत नहीं हुआ। एक्सपर्ट होने से कंपनी को काम करने में भी आसानी होगी। क्योंकि आगे 4 सी लाइसेंस के हिसाब से नई टर्मिनल बिल्डिंग के साथ-साथ अन्य कामों का भी प्लान तैयार करना होगा।

टर्मिनल थ्री सी के हिसाब से बना
^टर्मिनल बिल्डिंग का प्लान बनाने के लिए तीन अलग-अलग कंसलटेंट बुलवाए गए थे, वे डीजीसीए के मापदंड के मुताबिक नहीं थे । अब नए सिरे से एक्सपर्ट कंसलटेंट कंपनी को आमंत्रित करेंगे। फिलहाल तो एयरपोर्ट की टर्मिनल बिल्डिंग थ्री सी लाइसेंस के हिसाब से तैयार हो चुकी है।
टीएन संतोष, एसडीओ, पीडब्ल्यूडी बिलासपुर डिवीजन

पीडब्ल्यूडी अपना काम कर रही है
^कंसलटेंट नियुक्त करने का काम पीडब्ल्यूडी का है लेकिन जब तक एक्सपर्ट कंसलटेंट नहीं होगा। काम सही तरीके से नहीं होगा। इसलिए उच्च स्तर से एक्सपर्ट कंसलटेंट नियुक्त करने कहा गया है। पीडब्ल्यूडी इसकी कार्रवाई कर रहा है।
बीरेन सिंह, डायरेक्टर बिलासपुर एयरपोर्ट



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
DGCA rejects expert consultant for planning


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3rzJb0W

0 komentar