नए पैटर्न पर होगी कामधेनु यूनिवर्सिटी की सेमेस्टर परीक्षाएं, गूगल फॉर्म में हल होंगे ऑब्जेक्टिव प्रश्न , December 29, 2020 at 06:17AM

कामधेनु विश्वविद्यालय में बीटेक और बीएफएससी परीक्षाएं इस बार नए पैटर्न पर होगी। स्टूडेंट्स गुगल फॅार्म में जाकर ऑब्जेक्टिव प्रश्न हल करेंगे। वहीं जिन छात्रों ने नेटवर्क या अन्य किसी तकनीकी समस्या के कारण जो परीक्षा नहीं दे सके हैं उन्हें एग्जाम देने का दोबारा मौका मिलेगा। यूनिवर्सिटी ने कोरोना को देखते हुए पहली बार इस तरह की व्यवस्था लागू की है।

इस व्यवस्था से ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले छात्रों को राहत मिलेगी। ऐसे छात्रों का साल नहीं खराब होगा। कामधेनु विश्वविद्यालय ने बीटेक और बीएफएससी पाठ्यक्रम के लिए यह बदलाव किया है। यूनिवर्सिटी ने इसका नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। जल्द ही एग्जाम लेने की तैयारी यूनिवर्सिटी कर रहा है।

एग्जाम पैटर्न में बदलाव इस सेमेस्टर एग्जाम में लागू होंगे। गुगल फॉर्म से स्टूडेंट्स को ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन हल करने होंगे। यह 20 नंबर का होगा। इसके बाद मल्टीपल और सब्जेक्टिव क्वेश्चन 30 अंक के होंगे। स्टूडेंट्स कॉलेज में जाकर भी ले सकते हैं।

जिन छात्रों ने नहीं दिया है एग्जाम, उन्हें दोबारा मौका
ऑनलाइन ही होगा वायवा और असाइमेंट

यूनिवर्सिटी की नई व्यवस्था के तहत प्रैक्टिकल परीक्षा भी ऑनलाइन पैटर्न पर आयोजित होगा। इसमें स्टूडेंट्स को प्रैक्टिकल एग्जाम में होने वाला वायवा भी ऑनलाइन देना होगा। वहीं प्रैक्टिकल एग्जाम दे रहे स्टूडेंट्स को वायवा के साथ-साथ सब्जेक्ट के असाइनमेंट भी जमा करने होंगे। छूटने वाले छात्र दोबारा इस परीक्षा को दिला सकेंगे। इसके लिए कॉलेजों में जानकारी देना जरूरी।

डीन और कंट्रोलर की होगी जिम्मेदारी

बीटेक और बीएफएससी पाठ्यक्रम के सेमेस्टर परीक्षाओं का संचालन कॉलेजों को ही करना होगा। इसके लिए कॉलेजों के अधिष्ठाता या नियंत्रणकर्ता की जिम्मेदारी कॉलेज के प्राचार्यों द्वारा तय की जाएगी। छात्र भी इन्हीं के पास जाकर परीक्षा से संबंधित मार्गदर्शन ले सकते हैं। कॉलेजों में ऐसे छात्र जो ग्रामीण क्षेत्र में रहते हैं उनके मदद के लिए कॉलेजों में डेस्क तैयार किया जाएगा।

सबजेक्ट टीचर नहीं करेंगे कोई कार्य, आदेश जारी
परीक्षा का संचालन कॉलेज सब्जेक्ट टीचर द्वारा नहीं कराया जाएगा। विवि ने 23 दिसंबर को जारी नोटिस में स्पष्ट किया है कि कोर्स टीचर की जगह परीक्षा का संचालन अन्य शिक्षक के माध्यम से प्रश्न पत्र सेटिंग और मूल्यांकन का कार्य कराया जाए। वहीं इसके लिए अलग से समय-सारणी भी घोषित करने कहा गया है। इसे लेकर आदेश व गाइड लाइन भी जारी की गई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
फाइल फोटो


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/38LKW2k

0 komentar