पहली वैक्सीन खुद लगवाएंगे छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री, विभाग ने पहली सूची में भेजा सिंहदेव का नाम , December 31, 2020 at 06:54AM

ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की कोरोना वैक्सीन को यूनाइटेड किंगडम के नियामक की अनुमति मिल जाने के बाद छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य विभाग में भी उत्साह है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने उम्मीद जताई कि जल्दी ही देश में भी नियामक संस्था इस वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की अनुमति दे देगी। उन्होंने बताया, वैक्सीन के प्रति लोगों का भरोसा बढ़ाने के लिए वे खुद वैक्सीन लगवाएंगे।

स्वास्थ्य मंत्री के आग्रह के बाद विभागीय अधिकारियों ने टीकाकरण पंजीयन की पहली सूची में उनका नाम भी केंद्र सरकार को भेज दिया है। पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों का नाम भेजा गया है। इसमें 2 लाख 34 हजार लोगों के नाम हैं। टीकाकरण शुरू होने पर पहली वैक्सीन इन्हीं लोगों को दिया जाना है।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया, पहले वैक्सीन के दो डोज के बीच कितना समय लगना है यह स्पष्ट नहीं हो रहा था। अब जानकारी आ रही है कि ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन के दो डोज हाेंगे। एक डोज लगने के बाद दूसरा डोज दो से आठ सप्ताह के बीच कभी भी लग सकता है। यह काफी लचीला होगा।

सभी को फ्री मिलेगी या नहीं यह तय नहीं

जो वैक्सीन आ रही है, वह सभी लोगों को फ्री लगेगी या नहीं यह अभी तक राज्य सरकार को भी पता नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा, पहले और दूसरे चरण में शामिल लोगों को यह वैक्सीन नि:शुल्क लगनी है। इन चरणों में फ्रंटलाइन वर्कर ही शामिल हैं। तीसरे चरण से संभवत: पंजीयन सभी के लिए खोल दिया जाएगा।

सिंहदेव ने कहा, देश की सरकार को सभी लोगों को फ्री में कोरोना वैक्सीन देना चाहिए। इसपर 40 हजार करोड़ रुपए का खर्च ही संभावित है। केंद्र सरकार के मना करने की स्थिति में राज्य की तैयारी बावत पूछे जाने पर सिंहदेव ने कहा, सच तो यह है कि अभी हम इसके बारे में सोच भी नहीं रहे हैं।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
टीएस सिंहदेव बुधवार शाम को अपने निवास कार्यालय में प्रेस से बात कर रहे थे।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3hvmNAZ

0 komentar